AIMIM के अध्यक्ष और हैद’राबाद से सांसद अस’दुद्दीन ओवै’सी अपनी बेबा’क़ी की वजह से जाने जाते हैं सामने कोई भी हो वो अपनी बात कहने में कभी पीछे नहीं ह’टते। CAA और NRC मामले में वो पहले ही सरकार के विरो’ध में आगे हैं और उन्होंने इस माम’ले में सत्ताप’क्ष की चाला’कियों को भी ब’यान किया है। अब उन्होंने PM मोदी पर निशा’ना सा’धते हुए एक ट्वीट किया है।

ओवैसी ने इस ट्वीट में एक लेख का लिंक शे’यर किया है और साथ में लिखा है कि “लोकतं’त्र में विप’क्ष का सम्मान किया जाना चाहिए न कि उसे धू’मिल किया जाना चाहिए। हालांकि कुछ लोगों को ऐसा करना नहीं आता पर ज्यादातर लोगों की भलाई के लिए यही इकलौता रास्ता है”। बता दें कि ओवैसी ने जिस लेख का लिंक शे’यर किया है वो ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन की साइट में है। इस लेख में ‘2020 के लिए एक सवा’ल है कि क्या भारत वापसी कर पाएगा?”

Narendra Modi

इस लेख में विस्तार से लिखा गया है कि 2019 की चु’नावी जीत के बाद से प्रधानमंत्री द्वारा लिए गए फैस’लों ने कैसे देश की छवि को धू’मिल कर दिया। साथ ही इस लेख में मोदी सरकार द्वारा 2019 में लिए गए फैस’लों पर टिप्प’णी की गई है। उनकी नी’तियों का उल्लेख किया गया है यही नहीं इस लेख में विदेशी सम्बन्धों में आए बद’लावों को भी इंगि’त किया गया है।

कश्मीर से 370 ह’टाए जाने और आ’र्थिक मं’दी जैसे मु’द्दों को भी शा’मिल किया गया है जिनकी वजह से देश में बेरो’ज़गारी का स्त’र बढ़ता जा रहा है। इस लेख में भारत की धर्मनि’रपेक्ष छवि को बद’लने की बात भी कही गयी है। लेख में कहा गया है कि भारत के मित्र राष्ट्र भी इस बात से चिं’तित हैं कि भारत एक सेक्यु’लर और बहु’लतावा’दी देश होने से किस दिशा में आगे बढ़ रहा है।

Owaisi

देशभर में नागरि’कता का’नून और एनआरसी को लेकर हो रहे छात्र आंदो’लनों की ओर दुनिया की निगाहें टि’की हुई हैं। इस लेख में कहा गया है कि यदि मोदी सरकार अगर इस तरह के फैस’ले लेती रही तो वह दुनिया के आगे अपनी विश्वसनीयता गं’वा देगी और सबसे आ’ख़िर में लिखा गया है कि लोकतं’त्र में विप’क्ष का सम्मान बहुत ज़रूरी है। इसी पंक्ति को ओवैसी ने चुना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.