2018 में परिवार बना था हिं’दू… फिर बन गए मुसलामन, कहा हमने अपने ही पैर पर कुल्हा’ड़ी मा’रने, पत्नी ने कहा हम दलित…

September 22, 2022 by No Comments

2018 में बागपत में एक मुस्लिम परिवार के 13 सदस्यों ने हिंदू धर्म अपनाया था वजह थी अख्तर अली के चार बेटे थे छोटे बेटे गुलशन की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी उनका आरोप था कि उसकी हत्या की गई है और मुसलमानों ने साथ नहीं दिया युवा हिन्दू वाहिनी के लोगों ने इनकी मदद की थी और बाद में इन्होंने इस्लाम छोड़ने का फ़ैसला किया था।

लेकिन मुसलमान से हिन्दू बनने का सफ़र पूरे परिवार के लिए बहुत लंबा नहीं रहा क्योंकि इनके घर की महिलाओं का मन हिन्दू बनने का नहीं था हिन्दू बनने के बाद नौशाद की पत्नी रुक़ैया मायके चली गईं उन्होंने कहा कि हिन्दू बनने के बाद यह निकाह टूट चुका है और अब वह वापस नहीं आएँगी नौशाद कहते हैं कि उनके लिए अकेले रहना बहुत मुश्किल था क्योंकि बच्चे भी उनकी पत्नी के साथ ही चले गए थे।

नौशाद दो महीने में ही फिर से इस्लाम अपना लिया और उन्होंने फिर से अपनी बीवी से निकाह किया इसी तरह उनके भाई इरशाद का कहना है कि वह जो सोचकर हिन्दू बने थे, उनमें से कुछ भी हासिल नहीं हुआ इरशाद ने हिन्दू बनने के बाद अपना नाम कवि रख लिया था इरशाद का कहना है कि वह इंसाफ़ के लिए हिन्दू बने थे लेकिन यहाँ भी कुछ नहीं मिला।

इरशाद कहते हैं, हिन्दू तो बन गया था लेकिन सारे रिश्तेदार मुस्लिम ही थे सबने हिन्दू बनने के बाद मुँह मोड़ लिया कोई बात नहीं करता था सब तंज़ कसते थे कोई फ़ोन तक नही उठाता था दूसरी तरफ़ हिन्दुओं में भी जाति व्यवस्था है ख़ुद को हिन्दू तो बना लिया लेकिन जाति कहाँ से मिलती जाति नहीं मिलती तो शादी-विवाह का क्या होता मुझे लगा कि ये तो अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मारने वाली बात हुई।

अख़्तर अली की सबसे बड़ी बहू शाबरा ख़ातून कहती हैं, ”मुझे पता था कि हमें कोई हिन्दू स्वीकार नहीं करेगा इसलिए मैंने फ़ैसला किया था कि चाहे जितनी दिक़्क़तें हों हिन्दू नहीं बनूँगी मेरे बच्चों से शादी कौन करता? मैं हिन्दू बनकर भी कोई ब्राह्मण तो बन नहीं जाती बनना तो दलित ही था तो फिर मैं क्यों वहाँ छुआ-छूत झेलने जाऊँ. देखो जी मुसलमान बनना आसान है लेकिन आप हिन्दू बनकर भी अपने पीछे के जीवन से मुक्त नहीं हो सकते।

अख़्तर अली का पूरा परिवार फिर से मुसलमान बन गया लेकिन तीसरा बेटा दिलशाद अब भी हिन्दू ही है 2018 में हिन्दू बनने के वक़्त अपना नाम दिलेर सिंह कर लिया था दिलेर सिंह ने अपने सभी पाँच बच्चों का हिन्दू नाम रखा लिया है इनके पाँचों बच्चों की उम्र चार साल से 14 साल के बीच है दिलेर सिंह ने अपनी पत्नी का नाम मंजू रख लिया थ।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.