सियासी घमासान के बीच 2022 पंजाब चुनाव में कौन होगा कांग्रेस का उम्मीदवार, पार्टी ने लिया बड़ा फैसला…

August 26, 2021 by No Comments

अगले साल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिनमें पंजाब का नाम भी शामिल है। लेकिन पंजाब कांग्रेस के बीच चल रहे आंतरिक कलह ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच वर्चस्व की लड़ाई छेड़ दी है।

नवजोत सिंह सिद्धू का कहना है कि वह मुख्यमंत्री को नहीं। बल्कि राहुल गांधी को अपना कैप्टन मानते हैं। इसी बीच अब यह संकेत प्रदेश पार्टी प्रभारी हरीश रावत ने दे दिए हैं कि अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की तरफ से कैप्टन अमरिंदर सिंह ही उम्मीदवार होंगे।

दरअसल राज्य में चल रहे सियासी घमासान के बीच बुधवार को पार्टी के कई बड़े नेताओं ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के प्रभारी हरीश रावत से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने यह संकेत दिए हैं कि जिस तरह की मांग और बातें कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ की जा रही हैं। वह पूरी नहीं होगी।

पार्टी अगले साल आने वाले विधानसभा चुनाव भी कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई में ही लड़ेगी। रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शामिल परगट सिंह, मंत्री सुखजिंदर रंधावा, चरणजीत सिंह, सुखविंदर और राजेंद्र सिंह ने रावत से मुलाकात की। इस तरह के भी अनुमान हैं कि ये नेता अब कांगेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं।

इनमें से कुछ ने कल दिल्ली में आला हाईकमानों से भी मुलाकात की थी। कैप्टन के खिलाफ खुली बगावत छेड़ते हुए मंगलवार को चंडीगढ़ में केबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा के घर हुई बैठक में चार केबिनेट मंत्रियों और 25 विधायकों ने कांग्रेस हाईकमान से 2022 के चुनाव से पहले कैप्टन को मुख्यमंत्री की कुर्सी से हटाने की मांग की।

आपको बता दें कि कांग्रेस नेताओं की इस बैठक के बाद पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त महासचिव प्रगट सिंह के साथ असंतुष्ट विधायकों का पक्ष लेकर 4 कैबिनेट मंत्री हाईकमान से मिलने के लिए दिल्ली पहुंचे। मंत्रियों में तृप्त राजिंदर बाजवा, सुखजिंदर सिंह रंधावा, सुख सरकारिया और चरणजीत

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *