अमेरिकी फौजियों की वापसी के बाद अफगानिस्तान में ता’लिबा’न का राज वापस आ गया है कुछ ही दिनों में ता’लिबा’न ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया ज्यादातर इलाकों को कब्जा करने के लिए ता’लि’बान लड़ाकों को जंग करने की भी जरूरत नहीं पड़ी अफगानिस्तान की राजधानी काबुल भी बगैर लड़े ही ता’लिबा’न के कब्जे में चला गया आखरी वक़्त तक लड़ने की बात करने वाले पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए इस वक्त बड़ी खबर सामने आ रही है पंजशेर से।

सोशल मीडिया के जरिए मिलने वाली खबरों में बताया गया है कि अफगान ता’लिबा’न ने उनको बातचीत के लिए शाम तक का समय दिया था ट्विटर से मिली जानकारी के अनुसार ता’लिबा’न की तरफ से दो टोक फैसला किया गया है अगर बातचीत के जरिए मामला हल नहीं होता तो दूसरे तरीके से मामले को हल किया जाएगा ट्विटर में वायरल होने वाली वीडियो में दिखाया जा रहा है कि ता’लि’बान के लड़ा’के पंजशेर की तरफ तैयारी के साथ निकले हुए हैं देखे जा सकते है इससे पहले मिलने वाली खबरों के अनुसार अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद ने बातचीत की हामी भरी थी ।

कई टीवी चैनलों के अनुसार अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह भी इस वक्त पंजशेर में मौजूद हैं अशरफ गनी के भाई हशमत गनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि अमरुल्लाह सालेह जं’ग के लिए तैयारी कर रहे हैं जबकि पंजशेर के लोग बातचीत करने के लिए तैयार है इससे पहले अहमद मसूद ने अमेरिका से जंग के लिए मदद मांगी थी वायरल वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है की दर्जनों गाड़ियां जिस पर ता’लिबा’नी लड़ा’के मौजूद हैं जा रही है अगले कुछ घंटों में स्पष्ट रूप से सामने आ जाएगा कि पंजशेर मामले को ता’लि’बान बा’तचीत के जरिए हल करते हैं या जं’ग के जरिए ।

आपको बता दें पंजशेर ऐसा इलाका है जहां पर ता’लिबा’न कभी कब्जा नहीं कर पाया है 20 साल पहले भी जब ता’लिबा’न ने 90 फीसदी इलाक़ो पर क़’ब्ज़ा कर लिया लेकिन पं’जशे’र पर क़’ब्ज़ा नही कर पाया था उसके कब्जे को लेकर भी’षण जं’ग हुई थी हज़ारो लोग मारे गए थे इसी वजह से सबकी निगाह पं’जशेर पर टि’की हुई है ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.