पं’जशीर में ता’लि’बान और अहमद मसूद के लड़ा’के थे आमने-सामने लेकिन हुआ कुछ ऐसा कि अब….

August 26, 2021 by No Comments

अफगानिस्तान में ता’लिबा’न के कब्जे के बाद ता’लिबा’न के लिए जो सबसे बड़ा रोड़ा था उसको बातचीत के जरिए हल कर लिया गया है आपको बता दें ता’लि’बान ने अफगानिस्तान के अक्सर इलाकों पर बगैर जंग किये ही कई प्रांतों पर क़ब्ज़ा कर लिया था यहां तक कि काबुल पर भी क़ब्ज़े के लिये कोई जंग नही हुई कई दिनों से पंजशीर में हालात खत’रनाक बने हुए थे ता’लिबा’न ने पंजशीर का घेराव किया हुआ था जबकि अहमद मसूद ने भी हथि’यार डा’लने पर साफ तौर से मना कर दिया था उन्होंने कहा था कि मरना कुबूल है लेकिन सरें’डर नहीं करेंगे।

सूत्रों के अनुसार अफ’गान ता’लिबान और उत्तरी गठ’बंधन ने एक दूसरे पर हम’ला न करने पर राजी हो गए हैं सूत्रों का कहना है कि अफगान ता’लिबा’न और उत्तरी गठबंधन के नेताओं के बीच यह बातचीत चारीकर के इलाके में हुई जिसमें दोनों तरफ से एक दूसरे पर हमला न करने पर इत्तेफाक किया गया आपको बता दें पिछले दिनों ता’लिबा’न के कमांडर कारी फसिउद्दीन ने दावा किया था कि अफगानिस्तान के प्रांत पंजशीर में ता’लि’बान आगे बढ़ना जारी रखे हुए हैं उन्होंने उत्तरी गठबंधन के पूर्व नेता अहमद शाह मसूद के घर और उनकी कई अहम चोटियों पर कब्जा का दावा किया था।

दूसरी तरफ अफ’गानि’स्तान के पूर्व जि’हादी कमांडर अहमद शाह मसूद के बेटे और पंजशीर प्रांत में ता’लिबा’न के खिलाफ लड़ने वाली फोर्स के नेता अहमद मसूद ने हथि’यार डा’लने से इंकार कर दिया था फ्रांसीसी अखबार को दिए गए इंटरव्यू में अहमद मसूद का कहना था कि मैं ता’लि’बान के सामने हथियार डालने के बजाय मरना पसंद करूंगा।

उन्होंने कहा मैं अहमद शाह मसूद का बेटा हूं और हथि’यार डालने क्या वर्ड मेरी डिक्शनरी में नहीं है ता’लि’बान प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने इस हवाले से अपने बयान में कहा था कि हम पंजशीर वादी पर कब्जा करना चाहे तो एक दिन में क़ब्ज़ा कर सकते हैं लेकिन जंग नहीं चाहते और उत्तरी गठबंधन के नेताओ के साथ बातचीत जारी है उम्मीद है कि मामला बातचीत से हल हो जाएगा

Leave a Comment

Your email address will not be published.