पश्चिम बंगाल में कोरो’ना की वजह से राज्य के खेल मंत्री को मिली रणजी टीम में जगह

कोलकाता: पश्चिम बंगाल से एक बड़ी ख़बर आ रही है. मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी मनोज तिवारी को बंगाल सरकार ने खेल मंत्री की ज़िम्मेदारी दी थी. वह तृणमूल कांग्रेस के नेता हैं. क्रिकेट के ज़रिए मिली पॉपुलैरिटी के बाद वह राजनीति में आए थे. ख़बर है कि मनोज तिवारी को राज्य की रणजी टीम में जगह दी गई है.

तिवारी ने आख़िरी रणजी मुक़ाबला मार्च 2020 में खेला था. तिवारी ने भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए भी कई मैच खेले हैं. उन्होंने कुल 12 एकदिवसीय मैच खेले हैं और तीन टी20 मैच खेले हैं. घरेलु क्रिकेट में उनके नाम कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज हैं. उन्होंने 50.4 की एवरेज से 9000 रन बनाए हैं। उन्होंने 27 शतक भी जड़े हैं। ये साल उनका फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 17वां साल होगा. उन्होंने 19 साल की उम्र में साल 2004 में डेब्यू किया था।

ख़बरों की मानें तो बंगाल कैम्प में 6 खिलाड़ियों के कोरो’ना सं’क्रमित होने के बाद खेल से जुड़े अधिकारीयों को ये फ़ैसला लेना पड़ा. जिन खिलाड़ियों की कोरो’ना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है उनमें सुदीप चटर्जी, अनुस्तुप मजुमदार, काजी जुनैद सैफी, गीत पुरी और प्रदिप्ता प्रमनिक हैं। इनके अलावा एक सहायक कोच भी कोविड-19 पॉजिटिव हैं। जिसके बाद बाद अब मनोज तिवारी को बंगाल की टीम में जगह मिली है।

मनोज तिवारी को बेहतरीन बल्लेबाज़ माना जाता है. यही वजह है कि टीम को कोरो’ना की वजह से जो समस्याएँ आयी हैं उनको पार करने में तिवारी अहम् भूमिका निभा सकते हैं. रणजी ट्रॉफी 2021-22 के लिए बंगाल का स्क्वॉड- अभिमन्यु ईश्वरन (कप्तान), मनोज तिवारी, सुदीप चटर्जी, अनुस्तुप मजुमदार, अभिषेक रमन, सुदीप घरामी, अभिषेक दास, रितिक चटर्जी, ऋत्विक रॉय चौधरी, अभिषेक पोरेल, शाहबाज अहमद, सयान शेखर मंडल, आकाश दीप, ईशान पोरेल, मुकेश कुमार, काजी जुनैद सैफी, साकिर हबीब गांधी, प्रदीप्त प्रमाणिक, गीत पुरी, नीलकंठ दास और करण लाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published.