भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम लिए बगैर उनके बारे में आ’पत्तिज’नक टि’प्प’णी की है। उन्होंने कहा कि संतों और वीरों की भूमि पर अब तो राम बनना ही होगा। इस पर मध्य प्रदेश कांग्रेस महासचिव (मीडिया) केके मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में लोकतंत्र की सीता का अप’हर’ण करने पर वे कुछ कहतीं तो बेहतर होता।

प्रज्ञा सिंह ने बंगाल में हिंसा की घट’ना’ओं को लेकर ट्वीट कर कहा कि बंगाल के भाजपा कार्यकर्ताओं की निर्मम ह’त्या, बला’त्का’र.. अब टिट फॉर टैट करना ही होगा। राष्ट्रपति शासन और एनआरसी, बस यही उपाय हैं। इस पर पलटवार करते हुए केके मिश्रा ने कहा कि कोरोना के कहर से लाशों के ढेर से बेखबर प्रज्ञा सिंह अचा’नक प्र’क’ट हुई। वह भी बंगाल व ममता बनर्जी को लेकर। वह वहां राष्ट्रपति शासन की मांग कर रही हैं। वह यह बतातीं कि भोपाल में कितनी मौ’तें हुई तो बेहतर होता।

पिछले दिनों भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कांग्रेस द्वारा चीन के मामले में खड़े किए जा रहे सवाल पर मीडिया से कहा कि विदेशी महिला के ग’र्भ से जन्मा कोई भी व्यक्ति रा’ष्ट्रभ’क्त नहीं हो सकता। चाणक्य ने कहा था कि इस भूमि का पुत्र ही देश की रक्षा कर सकता है। यहां साध्वी का इशारा सोनिया गांधी व राहुल गांधी पर था।


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर साधते हुए साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह की ओर से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जाकिर नाइक से समर्थन मांगने के बयान में कोई सत्यता नहीं है। जिसने भगवा को आतं’कवा’द कहा, भोपाल की जनता ने उसे सजा दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.