TMC और कांग्रेस को लेकर प्रशांत किशोर ने दिया बड़ा बयान, दोनों पार्टियों की…

May 8, 2021 by No Comments

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत दशहरा भले ही तृणमूल कांग्रेस के सर पर स’जा हो लेकिन इसके पीछे अहम योगदान चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का ही माना जा रहा है दरअसल प्रशांत किशोर बीते काफी समय से पश्चिम बंगाल चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के जीतने के लिए रणनीति बनाने में जुटे हुए थे।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव जिताने के बाद प्रशांत किशोर ने एक बड़ा ऐलान किया है कि वह अब कुछ वक्त के लिए बताओ रणनीतिकार काम नहीं करेंगे। दरअसल एक इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर से तृणमूल कांग्रेस को लेकर कुछ सवाल किए गए थे। जिसका जवाब देते हुए उन्होंने हैरानीजनक जवाब दिए हैं।

इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर से ये सवाल किया गया था कि क्या तृणमूल कांग्रेस की अपनी कोई विचारधारा नहीं है। तो इस पर उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि यह पार्टी कांग्रेस से निकली हुई पार्टी है। इसलिए उसकी विचारधारा भी कमोबेश वही है।
उनका कहना है कि टीएमसी पार्टी की विचारधारा और डीएनए की जड़ें कांग्रेस से ही जुड़ी हुई है। क्योंकि यह कांग्रेस से ही निकलकर बनी है। जो टीएमसी के लोग हैं उनमें से अधिकांश लोग कांग्रेस से ही निकल कर इस पार्टी में आए हुए हैं इसलिए कहना है कि टीएमसी की कोई अपनी विचारधारा नहीं है यह तो बहुत ही गलत है।

प्रशांत किशोर के इस जवाब पर न्यूज़ एंकर ने कहा कि इसका मतलब यह कि टीएमसी और कांग्रेस की विचारधारा एक है। तो इसपर प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं यह नहीं कह रहा हूं। लेकिन टीएमसी की विचारधारा की जड़ें कांग्रेस से ही जुड़ी हुई है। इससे आगे प्रशांत किशोर ने कहा कि जहां तक मुझे समझ है।

उसके हिसाब से टीएमसी की विचारधारा लेफ्ट- सेंटर और कल्याणकारी राज्यों वाली है। टीएमसी वाले मां माटी मानुष की बातें करते हैं और उससे यही पता चलता है। इसके अलावा प्रशांत किशोर ने कहा कि मेरा काम टीएमसी के अतीत और भविष्य पर चर्चा करना नहीं है। मैं सिर्फ एक सीमित कालखंड के लिए टीएमसी से जुड़ा हुआ हूं।

तृणमूल आज से 10 साल बाद क्या करेगी इसके बारे में ज्यादा तो पार्टी के नेता ही बता पाएंगे। इस इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर ने पूर्व में अन्य पार्टियों के लिए बनाए गए चुनावी रणनीति को लेकर भी जवाब दिया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *