कोरो’ना वाय’रस के इस देह’शत भरे माहौल में भी राजनीतिक मसले सामने आ रहे है। कभी इलेक्शन को लेकर तो कभी खुद इस महामा’री को लेकर। हाल ही में कुछ ऐसा ही राजनीतिक मसला सामने आया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऊपर कोरो’ना वाय’रस को लेकर निशा’ना साधा है। उन्होंने कहा कि यूपी में कोरो’ना वाय’रस से ल’ड़ने के लिए तैयारी सही नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री पर आ’रोप लगाया कि वह बचकाना बयान देकर इस महामा’री को सबसे कमजो’र वाय’रस बता रहे है और ऐसे बयान देकर जवाबदेही से बच रहे है। उनका कहना है कि सरकार इस महामा’री को निपटाने की बजाय बस इससे बचाव के लिए तौर तरीके अपना रही है।

प्रियंका गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए कहा कि “सीएम साहब और उनके अधिकारियों ने बार-बार पर्याप्त बेड होने और कोरो’ना वाय’रस से ल’ड़ाई में सब कुछ सही होने का दावा किया है, लेकिन इन खबरों में लखनऊ का हाल देखकर ही समझ जाएंगे कि यूपी सरकार की नाकाफी तैयारियों, लचर व्यवस्था और कमजोरियों पर पर्दा डालने की नीति ने आज बुरा हाल कर दिया है।” वहीं एक अन्य ट्वीट में वो लिखती है कि “म’रीज परे’शान हैं, स्वास्थ्य कर्मी परेशान हैं लेकिन सरकार के मुखिया ‘सदी का सबसे कम’जोर वाय’रस’ जैसे बचकाना बयान देकर जवाबदेही से मुंह फेरे हुए हैं।” साथ ही उन्होंने मीडिया में आई यूपी की कुछ खबरों को भी टैग किया जिसमें से एक ‘लखनऊ में मरीजों को बेड नहीं मिल रहे हैं’ थी।

साथ ही उन्होंने एक वीडियो भी टैग कि जिसमें बरेली के एक अस्पता’ल की छत से बारिश का पानी टपकता दिखाई दे रहा है। इसको लेकर उन्होंने ट्वीट किया कि “बरेली कोविड अस्पता’ल का हाल देखिए। Covid वार्ड में झरना फूट पड़ा है।” बता दें कि कुछ समय पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि “यह सदी का सबसे कम’जोर वाय’रस है, लेकिन इसका प्रसार बहुत तेज है। आपको इसके संक्रम’ण से खुद को बचाना होगा, विशेष रूप से बच्चों, बुजुर्गों और उन लोगों को, जो पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित हैं।” उनके इसी बयान को प्रियंका ने ‘बचकाना बयान’ बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.