कोरो’ना वाय’रस के कारण देश में परे’शानियां पैदा होती होती जा रही हैं। धीरे धीरे सब इसके चपे’ट में आते जा रहे हैं। हाल ही में इस वाय’रस से संक्रमि’त हुए भारत के पूर्व रष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की सेहत की खबर सामने आई है और खबर के मुताबिक उनकी हालत काफी गं’भीर है। बता दें इस इस बात की जानकारी सैन्य अस्पता’ल ने एक मेडिकल बुलेटिन में दी। हालाकि थोड़ी राहत की बात तो यह है कि उनके स्वास्थ्य सूचकों में कोई गिरावट नहीं आई है। बताया जा रहा है कि वह वेंटिलेटर की सपोर्ट पर हैं और विशेषज्ञों की एक टीम बारीकी से निगरानी कर रही है।

बता दें कि भारत के पूर्व रष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी 84 साल के हो गए है और वह कोरो’ना संक्र’मित होने के कारण 10 अगस्त को सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पता’ल में भर्ती हुए। अस्पता’ल के मुताबिक बताया जा रहा है कि उनके मस्तिष्क में खूब का थक्का था, जिसकी सर्जरी की गई है। जिसके बाद अस्पता’ल पहुंचने पर उनकी covid 19 की जां’च करवाई गई। जिसकी रिपोर्ट आने पर पता चला कि वह कोरो’ना संक्रमि’त है। वहीं अस्पता’ल से पहले उनकी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने शुक्रवार को कहा था कि “चिकित्सा की विशिष्ट भाषा की गहराई में नहीं जाते हुए, बीते दो दिन में मुझे जो बात समझ में आई है वह यह है कि मेरे पिता की हालत बहुत नाजुक बनी हुई है, लेकिन उसमें गिरावट नहीं आई है। रोशनी के प्रति उनकी आंख की प्रतिक्रिया में थोड़ा सुधार आया है।”

बता दें कि प्रणव मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति थे। साल 2012 से 2017 तक भारत के राष्ट्रपति रहे। वहीं हाल ही में उनके बेटे ने ट्वीट कर कहा था कि “मेरे पिता जुझारू हैं और हमेशा रहे हैं। उपचार का उन पर धीरे-धीरे असर हो रहा है। मैं अपने पिता के शीघ्र स्वस्थ होने की सभी शुभेच्छुओं से कामना करने की अ’पील करता हूं। हमें उनकी जरूरत है।” उन्होंने पिता की तबियत से जुड़ी गलत अफ’वाहों पर कहा कि “मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी अब भी जिंदा है और ‘हेमोडायनामिक’ तौर पर स्थिर हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.