प्यार अंधा होता है….. एक लड़की बचपन से अंधी थी उसको सब बुरे लगते थे सिवाए अपने महबूब के एक दिन वो…

September 12, 2022 by No Comments

एक लड़की बचपन से ही अंधी थी और हमेशा अपने आप से इस वजह से नफरत करती थी उसे इस दुनिया में सब लोग बुरे लगते थे और वो हर एक से और नफरत करती थी सेवाएं अपने महबूब के उसका महबूब उसका बहुत ख्याल रखता था उसकी हर बात मानता था वह कोशिश करता था कि उसको कैसे खुश रखें लड़की अक्सर कहती थी कि काश मेरी भी आंखें ठीक हो जाती है कोई मुझे आंखें डोनेट कर देता ताकि मैं भी दुनिया की रंगीनियों देख सकती ।

उस लड़की ने अपने महबूब से कहा जिस दिन मेरी आंखें रोशन हो गई मैं तुमसे शादी कर लूंगी एक दिन लड़की को अस्पताल से फोन आया कि आपके लिए डोनर मिल गया है लड़की बहुत खुश हुई और उस ने अपने महबूब को फोन करके बताया जब लड़की का ऑपरेशन हो गया और उसकी आंख काम करने लगी तो उसने इधर उधर देखा वह अपने महबूब दोस्त को तलाश कर रही थी।

डॉक्टर से कहा मेरे दोस्त को कमरे में भिजवा दें जब अस्पताल के कमरे में वो लड़का दाखिल हुआ तो लड़की ने देखा वह बेचारा भी अंधा था वो एक लाठी के जरिए कमरे में आया लड़के ने बोला कि लो आ तुम्हारी ख्वाहिश पूरी हो गई अब बताओ कि तुम मुझ से शादी करोगी लड़की ने बेदर्दी से जवाब दिया कैसे पागल वाली बातें कर रहे हो मैं तुमसे कैसे शादी कर सकती हूं तुम भी अंधे हो पूरी जिंदगी कैसे गुजरेगी वो लड़का चुपचाप वहां से निकल गया।

कुछ दिन बाद लड़की को उस लड़के का आखिरी खत मिला जिसकी वजह से इस बेवकूफ लड़की को पता चला कि उस लड़के ने ही जो उसका महबूब था उसने अपनी आंखें इस बेवफा लड़की के लिए डोनेट कर दी थी की ये खुश रह लेगी खत में सिर्फ इतना लिखा था मेरी आंखों का ख्याल रखना लड़का फिर कभी उस लड़की से नहीं मिला और वह बहुत पछताई क्योंकि यही होता है।

जब आप किसी असल चाहने वालों को खो देते हैं तो बिल्कुल अकेले रह जाते हैं ऐसे लोग तो हर जगह मिल जाते हैं जो आपको उस वक्त पसंद करें जब आप अपने उरूज बुलन्दी पर हो लेकिन ऐसे लोग बहुत कम मिलते हैं जो आपका साथ मुश्किल घड़ी में दें और उस वक्त आपकी कदर करें जब आपके हाथ बिल्कुल खाली हों।

Leave a Comment

Your email address will not be published.