जयपुर। राजस्थान की सियासत में कुछ गहमागहमी होने के आसार बने नज़र आ रहे हैं. ख़बर है कि विधायक हेमाराम चौधरी के इस्तीफे की ख़बर के साथ ही सियासी पारा बढ़ गया है. राजनीतिक बयानबाज़ी के दौर फिर से शुरू हो गए हैं. सचिन पायलट खेमे के माने जाने वाले हेमाराम चौधरी के इस्तीफे की ख़बरों ने कांग्रेस की अंदरूनी खींचतान को फिर सामने ला दिया है.

अब पायलट कैंप के एक और विधायक इंद्राज गुर्जर ने सचिन पायलट के तारीफों के पुल बांधते हुए ट्विटर के जरिए पायलट को बुरे वक्त का साथी बताते हुए उनके के प्रति अपनी गहरी निष्ठा जताई है. विधायक इंद्राज गुर्जर ने सचिन पायलट के साथ अपनी शेयर करते हुए उन्हें ही अपना राजनीतिक मार्गदर्शक बताया है. उन्होंने लिखा है कि माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी का मेरे क्षेत्र की सड़क के शिलान्यास के लिए मैंने आभार व्यक्त किया था.


मेरे क्षेत्र की जनता के कामों को मैं हमेशा प्राथमिकता देता रहूंगा, लेकिन राजनीति में मुझे स्थापित करने वाले मेरे बुरे वक्त में हाथ पकड़कर राजनीति में आगे बढ़ाने वाले मेरे मार्गदर्शक आदरणीय श्री सचिन पायलट जी मेरे नेता हैं और सदैव रहेंगे. किसी को भी सत्य के बारे में आशंका व्यक्त करने की या पूर्व विचार करने की आवश्यकता नहीं है. जय कांग्रेस जय हिंद. इस पोस्ट के साफ लगता है कि विधायक के मुखिया सचिन पायलट ही है.

गौरतलब है कि विधायक इंद्राज गुर्जर ने एक कार्यक्रम में सीएम गहलोत की कार्यशैली की जमकर तारीफ की थी जिसके बाद राजनीतिक माहौल गरमा गया और लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी. ऐसे में इंद्राज गुर्जर को ट्वीट के जरिए अपनी सफाई देनी पड़ी है. एक दूसरे ट्वीट में इंद्राज गुर्जर ने लिखा कि हर बात के राजनीतिक मायने नहीं होते मेरा नेता मेरा अभिमान, साथ था साथ है और साथ रहूंगा, सचिन पायलट जिंदाबाद, कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद, इस पोस्ट के जरिए इंद्राज गुर्जर के उन सभी लोगों को करारा जवाब दिया है जो उनके खिलाफ जा रहे थे.

हाल ही में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इंद्राज गुर्जर के विधानसभा क्षेत्र विराटनगर में 30 किलोमीटर की सड़क का वीडियो कांफ्रेंस के जरिए लोकार्पण किया था. इस दौरान इंद्राज गुर्जर ने सीएम अशोक गहलोत की कार्यशैली की सराहना की थी. विधायक ने सीएम से ऐसे ही क्षेत्र की जनता पर आशीर्वाद बनाए रखने की बात कही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.