राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरो’ना वाय’रस का कह’र दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है और दिल्ली में बढ़ते म’रीजों की संख्या के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बहुत बड़ा दावा किया है। उनका कहना है कि कोरो’ना वाय’रस के चपे’ट में आए हुए लोग अस्पाता’ल से ज़्यादा अपने घरों में ही ठीक हो रहे है। ऐसे में उनका कहना है कि अब लोगों को अस्पता’लों में भर्ती होने की कम से कम आवश्यकता है। बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट के जरिए एक दावा किया है। उन्होंने अपने ट्वीट के दिल्ली में फैले कोरो’ना संक्रम’ण का एक आंकड़ा पेश किया है, जिसमें उनका कहना है कि कोरो’ना संक्रमि’तों के इलाज के लिए अस्पता’लों में 99 हजार बेड खाली हुए है।

सीएम केजरीवाल ने अपने इस ट्वीट में लिखा कि “दिल्ली में कम से कम लोगों को अब अस्पता’ल में भर्ती होने की आवश्यकता है, अब अधिक से अधिक लोग घर पर ठीक हो रहे हैं। जबकि पिछले सप्ताह लगभग 2300 नए रोगी थे। अब तक अस्पता’लों में म’रीजों की संख्या 6200 से 5300 से नीचे नहीं गई है। आज, दिल्ली के अस्पतालों में 9900 कोरो’ना बेड खाली हैं।” वहीं बात करे दिल्ली के मौजूदा हालातों की तो दिल्ली में इस समय 25,940 एक्टिव केस मौजूद है।

वहीं पूरे भारत में दिल्ली सबसे अधिक प्रभावित राज्यों की लिस्ट में तीसरे स्थान पर है। यहां अब तक कोरो’ना के 94,695 मामले सामने आचुके है और साथ ही अब तक 2,923 म’रीजों की इस वाय’रस की वजह से मौ’त भी हो चुकी है। वहीं अब तक इस वाय’रस को मा’त देने वालों की संख्या भी 65,624 तक पहुंच गई है। बता दें कि जहां भारत में सबसे अधिक संक्र’मित राज्यों की लिस्ट में दिल्ली तीसरे स्थान पर है वहीं दुनिया में सबसे अधिक प्रभावित देशों में भारत 4 स्थान पर है। पूरे भारत अब तक कोरोना वायरस के 6 लाख से ज़्यादा मामले आ चुके है। वहीं इससे मरने वालों का आंकड़ा भी 18 हजार पार कर चुका है। गौरतलब है कि भारत में रिकवरी रेट में भी इजाफा हुआ है और यहां रिकवरी रेट 60 फीसदी तक पहुंच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.