देश में इस समय सबसे ज़्यादा च’र्चा का विषय है नागरिक संशो’धन बि’ल, जिसके तहत देश में मौजूद शर’णार्थियों को नागरिक’ता का अधि’कार नहीं दिया जाएगा साथ ही दूसरे देशों में रह रहे भारतीय मूल के लोगों को भारत में आकर नागरि’कता हासिल करने का अधि’कार मिल जाएगा। जिन्हें भार’तीय नाग’रिकता हा’सिल करने का अधि’कार मिलेगा उनमें जैन, हिंदू, सिख जैसे कई समु’दायों को जो’ड़ा गया है लेकिन इस लिस्ट में मुस्लि’म समु’दाय को नहीं जो’ड़ा गया। जिसके बाद भारत को हिंदू रा’ष्ट्र बनाने की बात ज़ो’र पकड़ने लगी है और भारत की ध’र्मनिरपे’क्षता को ध्व’स्त करने का इल्ज़ा’म स’त्ता प’क्ष पर लगने लगा है।

लोकसभा में तो ये बिल 80 वो’ट के विरो’ध पर 310 वोट पाकर पास हो गया लेकिन आज राज्यसभा में इसे पास करने की प्रक्रि’या चा’लू है। जहाँ लोकसभा में भाजपा को शिवसेना का साथ मिला वहीं अचानक राज्यसभा में शिवसेना ने यू- ट’र्न ले लिया। इस बात पर भाजपा के मंत्री के साथ ट्विटर वॉ’र तो हुई ही पर राज्यसभा में भी शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने भाजपा को घे’रने का मौ’क़ा नहीं छो’ड़ा। संजय राउत ने कहा कि “मज़बूत प्रधानमंत्री और गृहमंत्री हमारी आशा हैं। क्या इस बि’ल के पास होने के बाद आप घु’सपैठि’यों को बाहर निकालेंगे? अगर शर’णार्थि’यों को स्वी’कार करते हैं तो उस पर राज’नीति नहीं होनी चाहिए। क्या उनको वो’टिंग का अधि’कार मिलेगा?”

Sanjay Raut

इन सवा’लों के बाद संजय राउत ने आगे स’त्ता प’क्ष को घे’रते हुए कहा कि “मैं कल से ये बातें सुन रहा हूँ कि जो भी इस बिल का सम’र्थन नहीं करता है वो राष्ट्रवा’दी नहीं है, जो इसका सम’र्थन करेगा वही राष्ट्रवा’दी है, तो मैं आपको बता दूँ कि हमें अपने राष्ट्रवा’दी होने या हिं’दुत्ववा’दी होने का कोई सर्टिफ़ि’केट नहीं चाहिए। जिस स्कूल में आप पढ़ते हो, हम उसके हेडमास्टर हैं। हमारे स्कूल के हेडमास्टर बाला साहेब ठाकरे थे, अटल जी, श्यामा प्रसाद मुखर्जी भी थे, हम सबको मानते हैं।”

लोकसभा में इस बि’ल का सम’र्थन करने के बाद शिवसेना से कांग्रेस ख़ा’सी ना’राज़ दिख रही है क्योंकि महाराष्ट्र में सर’कार बना’ने के दौरान शिवसेना ने हिंदु’त्व का मु’द्दा छो’ड़कर ध’र्मनिरपे’क्षता को अपनाने की बात की थी लेकिन लोकसभा में इस बि’ल का सम’र्थन करने के बाद शिवसेना फँ’सती नज़र आ रही है। इस माम’ले पर बात करते हुए महाराष्ट्र कैबिनेट मिनिस्टर और कांग्रेस लीडर बालासाहेब थोराट ने कहा कि “हमारा देश संविधान के द्वारा चलता है और संविधान का आधा’र समानता है। हम ये उम्मीद करते हैं कि शिवसेना राज्यसभा में नागरिक संशो’धन बि’ल की वो’टिंग के दौ’रान इस बात का ध्यान रखे।”

Bala Saheb Thorat

Leave a Reply

Your email address will not be published.