नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में मिली पराजय के बाद समाजवादी पार्टी ने कड़े क़दम उठाने का सिलसिला जारी रखा है. सपा ने अपनी दिल्ली इकाई को भंग करके एक बार फिर नेताओं को कड़ा सन्देश दे दिया है. इसके पहले आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया. इस प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव से पहले कुछ कहती है लेकिन सरकार बनते ही महंगाई का उपहार दे देती है.

उन्होंने कहा कि निषाद समाज के साथ भाजपा ने भेदभाव किया है. जो कुछ नौकरियां निकली भी हैं उनमें निषाद समाज को कोई रिप्रजेंटेशन नहीं दी गई है. अखिलेश ने दावा किया कि इस समय बेरोज़गारी चरम पर है और देश ने इसके पहले ऐसी बेरोज़गारी कभी नहीं देखी थी. अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने लोकतंत्र की नई परिभाषा गढ़ी है. सरकार के पास हमेशा ऐसे मुद्दे रहते हैं जो लोगों का ध्यान हटा देते हैं.

Dimple-Akhilesh

सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि देश और प्रदेश बहुत ना’जुक हा’लत से गुजर रहा है. किसान आ’त्म’ह’त्या कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में क़ा’नून व्यवस्था की स्थिति ख़’राब बनी हुई है. ह’त्या लू’टपाट बढ़ गई है. सपा अध्‍यक्ष ने कहा कि आज बहुत बड़ी संख्या में लोग समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे हैं. कई लोग आज पार्टी की सदस्यता भी ले रहे हैं.

अखिलेश ने कहा कि बंगलादेशी टका भी अब भारतीय रुपए से मज़बूत हो रहा है. उन्होंने दावा किया कि इस समय किसान दुखी हैं और सरकार बिजली की क़ीमतें बढ़ाने वाली है. उन्होंने साथ ही बसपा के साथियों का भी धन्यवाद किया जिन्होंने लोकसभा चुनावों में बढ़-चढ़ कर गठबंधन को वोट किया था. सपा नेता दावा कर रहे हैं कि कई बसपा नेता सपा में शामिल होने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.