महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों के बाद से शिवसेना पर सवाल उठाए जा रहे हैं और गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग की जा रही है। इसी बीच शिवसेना सांसद संजय राउत की प्रतिक्रिया भी सामने आई है और इस मामले को लेकर इन्होंने एक ट्वीट किया है। जिसमें इन्होंने शायराना अंदाज में अपनी बात कही है। रविवार को ट्वीट करते हुए अनिल देशमुख ने लिखा कि, ”शुभ प्रभात, हमको तो बस तलाश नए रास्तों की है, हम हैं मुसाफिर ऐसे जो मंजिल से आए हैं।” अनिल देशमुख ने गीतकार जावेद अख्तर की शायरी को ट्वीट किया है।


मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर मिली विस्फोटक से लदी स्कॉर्पियो मामले को लेकर कल परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था। जिसमें इन्होंने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए थे। इस पत्र में इन्होंने लिखा था कि गृह मंत्री ने पुलिस अफसर सचिन वाझे से 100 करोड़ की वसूली करने को कहा था। इनकी ओर से सचिन वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने का टारगेट दिया गया था। इन्होंने पत्र में लिखा है कि अनिल देशमुख के इस भ्रष्टाचार के संबंध में शरद पवार और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार को भी अवगत कराया था, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

परमबीर सिंह के इस पत्र के बाद से उद्धव सरकार में हलचल मच गई है और अनिल देशमुख की कुर्सी पर खतरा बन गया है। अनिल देशमुख एनसीपी के नेता है। ऐसे में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार भी मुश्किल में पड़ गए हैं। दरअसल इस समय राज्य में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की गठबंधन की सरकार है और इस पत्र से शिवसेना और एनसीपी के बीच दरार पड़ गई है। ऐसे में शिवसेना सांसद संजय राउत ने ट्वीट कर नए रास्ते की तलाश की बात कही है। इस ट्वीट को पढ़कर ऐसा लग रहा है कि शिवसेना अपने पुराने सहयोगी बीजेपी का हाथ थाम सकती है और एनसीपी-कांग्रेस से गठबंधन तोड़ सकती है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र चुनाव को शिवसेना और बीजेपी ने एक साथ ही लड़ा था। लेकिन ये चुनाव जीतने के बाद शिवसेना उद्धव ठाकरे को राज्य का मुख्यमंत्री बनाने की जिद पर आड़ गई। जिसके कारण शिवसेना और बीजेपी का ये गठबंधन टूट गया और सरकार बनाने के लिए शिवसेना ने एनसीपी-कांग्रेस से हाथ मिला लिया।

वहीं सचिन वाझे इस समय NIA हिरासत में हैं। NIA ने इन्हें मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर से मिली कार मामले में गिरफ्तार किया है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही परमबीर सिंह ने ये गृहमंत्री को लेकर ये खुलासा किया है।