बेंगलुरु: भारतीय जनता पार्टी ने हाल ही में कर्णाटक में अपनी सरकार बनायी है लेकिन पार्टी और सरकार की आ’लोचना होनी शुरू हो गई है. असल में एक हफ्ते के इंतज़ार के बाद भाजपा सरकार ने आज मंत्रिमंडल की घोष णा की और विभागों का बँटवारा कर दिया. सबसे ज़्यादा च’र्चा इस बात की हो रही है कि भाजपा सरकार ने इस बार एक या दो नहीं बल्कि तीन उप-मुख्यमंत्री बनाये हैं. इनमें से एक उपमुख्यमंत्री को लेकर च’र्चाएँ और भी तेज़ हैं.

असल में इस बार मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के मंत्रिमंडल में जो तीन उप मुख्यमंत्री हैं उनमें से एक भाजपा के वो नेता हैं जिन्सेहें विधानसभा में पो’र्न देखने हुए पकड़ लिया गया था. बीजेपी नेता का नाम लक्ष्मण सावदी है. सावदी विधानसभा में पो र्न देख रहे थे. नई कैबिनेट में उन्हें ट्रांसपोर्ट पोर्टफोलियो भी दिया गया है. आपको बता दें कि भाजपा के अंदर से ही इस बात को लेकर वि’रोध शुरू हो गया है.

बीएस येदयुरप्पा

विधायक और सीएम के सहयोगी एमपी रेनुकाचार्य ने लक्ष्मण की नियुक्ति का विरो’ध किया है. उन्होंने शुक्रवार को कहा, ‘उन्हें चुनाव हा’रने के बावजूद मंत्री के रूप में शामिल करने की क्या आवश्यकता थी.’ बता दें कि लक्ष्मण सावदी बीते साल महेश कुमाटटल्ली से चुनाव हा’र गए थे. एक समाचार एजेंसी ससे सावदी ने कहा कि केंद्र और राज्य के नेताओं ने मुझे डिप्टी सीएम बनाया है. उन्होंने मुझ पर विश्वास जताया है.

उन्होंने कहा कि मैं पार्टी को मजबूत बनाऊंगा और हमारी सरकार अच्छा नाम करेगी. मैंने यह पद नहीं मांगा था. पार्टी के सीनियर नेताओं ने मुझे यह पद दिया है. मैं इसे स्वीकार करता हूं. उल्लेखनीय है कि सन 2012 में सावदी, सीसी पाटिल और कृष्णा पालेमर कर्णाटक विधानसभा में पो र्न वीडियो देख रहे थे. किरकिरी होने के बाद सावदी ने सफ़ाई देते हुए कहा कि उनका उद्देश्य शिक्षा था ताकि रेव पार्टियों को रोका जा सके. इसके बाद तीनों नेताओं को इस्तीफ़ा देना पड़ा था. कर्नाटक में लक्ष्मण सावदी के अतिरिक्त डॉ अश्वत नारायण और दलित नेता गोविंद करजोल को भी डिप्टी सीएम बनाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.