राहुल गाँधी के बयान के बाद भाजपा ने सिंधिया को बड़ी जिम्मेदारी, राजनीति में हुआ बड़ा सियासी उलटफेर..

March 30, 2021 by No Comments

मध्य प्रदेश की राजनीति में भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को एक अहम जिम्मेदारी दिए जाने की खबर सामने आई है। खबर के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश में हुए उपचुनावों में भले ही ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार से दूर रखा हो। लेकिन अब पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया को शामिल कर दिया गया है।

बताया जाता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पश्चिम बंगाल में होने वाले चौथे चरण के चुनाव से पहले राज्य में जाकर चुनाव प्रचार करेंगे भाजपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में उनका नाम भी शामिल कर दिया गया है। जिसके बाद पश्चिम बंगाल में संध्या की एंट्री तय मानी जा रही है। दरअसल बीजेपी ने चौथे चरण के चुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है। जिस नेताओं को शामिल किया गया। इसमें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रमुखता दी गई है।

आपको बता दें कि इससे पहले बंगाल चुनाव को देखते हुए कैलाश विजयवर्गीय और शिवराज सिंह चौहान को स्टार प्रचारको की लिस्ट में शामिल किया गया था। बताया जाता है कि लगातार भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को निशाना बनाते हुए यह कहा जा रहा था कि आखिरकार पार्टी ने उन्हें बैकबेंचर बनाकर क्यों रख दिया है।

हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुटकी लेते हुए कहा था कि कांग्रेस में रहते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया महाराज हुआ करते थे। लेकिन भाजपा में जाने के बाद अब वह भाई साहब बनकर रह गए हैं। यहां तक कि स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी उन्हें शामिल नहीं किया जा रहा है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के इस बयान के बाद ही भाजपा ने बंगाल में चौथे चरण के चुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की लिस्ट में ज्योतिरादित्य सिंधिया को जगह दी है। माना जा रहा है कि स्टार प्रचारकों की लिस्ट में सिंधिया को जगह देने के साथ ही बीजेपी ने कांग्रेस को करारा जवाब दिया है।

ज्ञात हो कि पिछले साल मध्यप्रदेश में आए सियासी भूचाल के पीछे ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने 28 समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे। इसी के साथ अल्पमत में आई कमलनाथ सरकार गिर गई थी और शिवराज सिंह चौहान की एक बार फिर से प्रदेश की सत्ता में वापसी हुई थी।

जिसके बाद चर्चा थी कि सिंधिया को केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है। लेकिन उन्हें राज्यसभा सांसद पद बीजेपी की तरफ से दिया गया। वहीं सिंधिया को लेकर लगातार कांग्रेस हमलावर रही है। अब ऐसे में मध्यप्रदेश के बदलते चुनाव में बड़ी भूमिका अदा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया बंगाल की राजनीति में किस तरह उलटफेर कर सकते हैं। यह देखना दिलचस्प है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *