शहीद हुयें भाई को राखी बांधने हर साल 800 किमी दूर से आती है बहन, दिल छू लेगी कहानी

August 12, 2022 by No Comments

रक्षाबंधन पर्व पर हर बहन अपने भाई की कलाई पर रखी बांधती है,लेकिन कुछ बहनें ऐसी भी है जिनके भाइयों ने अपनी जान देश पर कुर्बा/न कर दी। अब उनके भाई तो इस दुनिया में नहीं हैं,लेकिन बहने आज भी उनकी कलाई पर रखासूत्र बांध रहीं है।हर साल रखी बांधते समय बहनों की आंखें नम हो जाती हैं,लेकिन उन्हें शहाद/त पर गर्व है।

राजस्थान के सीकर जिले के गणेश्वर इलाके के सालावाली गांव के गोकुल चंद यादव 13 अप्रैल 2016 में आ/.तंकियों से लोहा लेते शहीद हो गए थे।पंचायत भवन के पास शही.द की प्रतिमा बनी हुई है। गुरुवार को श/हीद गोकुल की बहन सुनीता और कविता ने उनकी प्रतिमा को राखी बांधी।

दोनों बहनें हर साल नाहरेड़ा से गणेश्वर उन्हें राखी बांधने के लिए आती हैं।बहनें अपने भाई की प्रतिका के साथ रक्षाबंधन और भाई दूज का त्योहार मनाती हैं।राजस्थान के पाली जिले के भंवरिया गांव में भी शहीद हनुमानसिंह की प्रतिमा को उनकी बहन कमला देवी ने राखी बांधी।

इस दौरान कमला श/हीद की प्रतिमा से लिपटकर रोने भी लगी। हनुमान सिंह 32वीं राष्ट्रीय राजपुताना बटालियन में तैनात थे। 13 फरवरी 1999 को मणिपुर में उग्रवादियों से मु”ठभेड़ के दौरान वह श/हीद हो गए थे। जिसके बाद गांव में उनकी प्रतिमा बनवाई गई।

Leave a Comment

Your email address will not be published.