यूपी चुनाव पर शाहनवाज़ हुसैन का बड़ा बयान, बोले- पूरा विपक्ष मिलकर लड़े तो…

July 6, 2021 by No Comments

उत्तर प्रदेश में साल 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों में सियासी उठापटक शुरू हो गई है। भारतीय जनता पार्टी के अंदर का ने भी इस वक्त समीक्षा का दौर चल रहा है।

इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों पर बड़ा बयान सामने आया। शाहनवाज हुसैन पार्टी के मात्र अल्पसंख्यक नेताओं में से एक है। जो अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में बने रहते हैं।

शाहनवाज हुसैन ने गाजियाबाद में बयान देते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल हो रहे चुनाव में भाजपा पहले ही ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाएगी वह सोमवार को बसपा नेताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाने के लिए गाजियाबाद पहुंचे थे। जहां स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग के निवास पर उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान यह बातें कहीं।

शाहनवाज हुसैन का दावा है कि भाजपा के खिलाफ विपक्षी दल मिलकर भी लड़ेंगे। तो भी उत्तर प्रदेश में उनकी हार निश्चित है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में हम तीन सीट से 77 सीट तक पहुंच गए हैं। तो विरो’धी दल यूपी का अंदाजा लगा सकते हैं। समाजवादी पार्टी और रालोद के गठबंधन आम आदमी पार्टी के चुनाव लड़ने और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के उत्तर प्रदेश में आने के सवाल पर शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि पहले दो लड़कों का और फिर बुआ भतीजे का गठबंधन हुआ था।

ओवैसी को हैदराबाद की ग’ली का नेता बताते हुए कहा कि यूपी में उनके आने से असर नहीं होगा। हमने दं’गा मुक्त और भ’य मुक्त शासन दिया और विकास किया। योगी आदित्यनाथ को’रोना म’हामा’री के बीच अस्पताल गए और ईमानदारी से काम किया।
शाहनवाज हुसैन ने कहा कि काम करते हुए कई बार राजी-नाराजगी भी होती है। मगर लोग उसी से नाराज होते हैं, जिससे राजी होते हैं। आ’तंकी, अ’परा’धी और भ्र’ष्टाचा’रियों पर हमारी जीरो टो’ल’रेंस वाली नीति है। हम लोगों के बीच अपने कार्यों को पहुंचाएंगे। ज्यादा ताकत के साथ चुनाव ल’ड़ेंगे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसी की भी धा’र्मिक आजादी जीना सबसे बड़ा अ’परा’ध नहीं हो सकता है। संविधान में यह स्वै’च्छिक है लेकिन लालच देकर और गरीबों में पैसा बांट कर ध’र्मांत’रण करवाना बिल्कुल भी सही नहीं है। इस पर हमारी सरकार जागरूक है। उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत सदस्य की कम सीट आने को लेकर कहा कि यह स्थानीय चुनाव था। जिस चुनाव में कमल का फूल, मोदी-योगी की फोटो और भाजपा का झंडा होता है तो बाकी मैदान में उतरने से भी घबराते।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *