इंदौर: पिछले कुछ सालों में भारत की टीम ने शानदार क्रिकेट खेली है. इसका श्रेय कई लोगों को जाता है..कहा जाता है कि सौरव गांगुली ने जब कप्तानी संभाली उसके बाद से ही टीम में निखार आया. उसके बाद धोनी ने टीम को और मज़बूत किया और अब विरत कोहली भी टीम की कमान को अच्छे से संभाले हुए हैं. आज संपन्न हुए भारत-बांग्लादेश टेस्ट में भी ये बात नज़र आ गई.

भारत ने बांग्लादेश को इंदौर टेस्ट में शनिवार को पारी और 130 रन से हरा दिया। भारत ने इसके साथ ही दो टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 1-0 की अजेय बढ़त बना ली है. भारतीय टीम की यह लगातार छठी जीत है। भारत ने अपनी पहली पारी 6 विकेट के नुक़सान पर 493 रन बनाकर घोषित कर दी. जबकि बांग्लादेश की टीम पहली पारी में 150 और दूसरी पारी में 213 रनों पर ऑलआउट हो गई।

मयंक अग्रवाल ने 243 रन की पारी खेलते हुए करियर के 8वें टेस्ट में दूसरा दोहरा शतक लगाया। इनके अलावा अजिंक्य रहाणे ने 86, चेतेश्वर पुजारा ने 54 और रविंद्र जडेजा ने नाबाद 60 रन की पारी खेली। बांग्लादेश की ओर से सबसे ज्यादा अबु जायेद ने 4 विकेट लिए। भारत के लिए दोनों पारी में मोहम्मद शमी ने 7, रविचंद्रन अश्विन ने 5, उमेश यादव ने 4 और ईशांत शर्मा ने 3 विकेट लिए। बांग्लादेश के लिए मुशफिकुर रहीम ने 43-64 और लिटन दास ने 21-35 रन की पारी खेली।

शमी ने इसके साथ एक रिकॉर्ड भी बना दिया है, वो टेस्ट की दूसरी पारी में पिछले दो साल में सबसे अधिक कामयाब गेंदबाज़ बन गए हैं. मैन ऑफ द मैच रहे मयंक ने कहा, ‘‘देश के लिए खेलना मेरे लिए सपने के पूरा होने जैसा है।’’ जब उनसे सवाल किया गया कि कोलकाता में टेस्ट डे-नाइट टेस्ट में खेलने के सवाल पर कहा, ‘‘मुझे इससे कोई समस्या नहीं होगी। मैं कई घरेलू मैच भी डे-नाइट खेल चुका हूं। कई डे-नाइट वनडे और टी-20 भी खेलने का अनुभव है, इसलिए यह मेरे लिए ज्यादा सोचने की बात नहीं है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.