दिल्ली : स्टार किड होने का एक फायदा यह तो है कि आप को फ़िल्मों मे काम जल्दी मिल जाता है ।लेकिन फिल्मों मे काम मिलने का मतलब कामयाबी नहीं होता है।अगर ऐसा होता तो सभी स्टार किड्स सुपर हिट होते। पिछले साल जो दो स्टार किडस सबसे ज़्यादा चर्चा मे रहे वह हैं श्रीदेवी और बोनी कपूर की बेटी जहान्वी कपूर और दूसरी सैफ अली खान और अम्रता सिंह की बेटी सारा अली खान।

सारा अली ख़ान की दो फिल्में आयी थी ।उनकी पहली फ़िल्म थी ‘केदारनाथ और दूसरी सिंबा। जहाँ केदारनाथ मे उन्होंने अपने अभिनय से अपनी छाप छोड़ी,द वहीं उनकी दूसरी मूवी ‘सिम्बा’ सुपर हिट रही। इसके साथ ही उनके प्रशंसकों की तादाद भी बढ़ने लगी। और देखते ही देखते यस स्टार किड ख़ुद भी स्टार बन गई।

Sara Ali Khan

इस बारे मे पूछे जाने पर अभिनेत्री सारा अली खान ने कहा कि न तो वह ‘स्टार’ हैं और न ही भविष्य में वह कभी खुद को स्टार जैसा महसूस होने देंगी। क्योंकि जैसे ही आप ऐसा महसूस करेंगे, अन्य लोग आपको अनुकूल व सकारात्मक तरीकें से देखना बंद कर देंगे। सारा की दादी शर्मिला टैगौर का कहना है कि इतनी कम उम्र में वह आत्मविश्वास से भरपूर हैं।इस बारे मे पूछने पर उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि वह ईमानदार है इसलिए आत्म विश्वास से भरी हुई हैं.

परिवार और मीडिया से मिल रही प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर सारा ने कहा कि मैं वह जो भी करेंगी परिवार वाले उसको पसंद ही करेंगे क्योंकि वह उनकी बेटी है। लेकिन समालोचकों और दर्शकों से जो प्रतिक्रिया मिली है, वह अभिभूत कर देने वाली है। उनको लगता है कि वह इसे जिंदगी भर नहीं भूल पाएंगी। क्या सारा उस प्यार की हक़दार हैं जो उन्हें मिल रहा है, इस पर उनका कहना है कि 80 फीसदी वह इसकी हकदार हैं। बाकी 20 फीसदी कहां से आ रहा है, वह खुद नहीं जानतीं है।उनका मानना है यह प्यार उन्हें आभारी और भावुक महसूस करा रहा है।उन्होंने आगे कहा कि अभिनय में उन्हें कोई अनुभव नहीं था। वह बस ईमानदारी से अपना काम कर रही हैं।उनके अनुसार उनके लिए आगे बढ़ने का यही एकमात्र तरीका रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.