कांग्रेस नेता का बड़ा दावा, इस राज्य में एक भी सीट नहीं जीत पायेगी भाजपा…

March 20, 2021 by No Comments

देश के 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर हर दिन नई सियासी समीकरण बन रहे हैं। वहीं सभी राजनीतिक दलों के नेता बढ़-चढ़कर चुनाव प्रचार में भी जुटे हुए इन पांचों राज्यों में होने वाले चुनाव के नतीजे 2 मई को एक साथ घोषित किए जाएंगे।

चुनावों के मद्देनजर 2 राज्यों में इस वक्त बड़ा सियासी घमासान चल रहा है। पश्चिम बंगाल और केरल ऐसे राज्य हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी का जीत हासिल करना आसान काम नहीं होने वाला है। इसी बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर का बड़ा बयान सामने आया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद ने मीडिया से बातचीत के दौरान केरल विधानसभा चुनाव से जुड़े तमाम मुद्दों पर बातचीत की है। उन्होंने कहा है कि केरल के अंदर इस बार भाजपा को एक भी सीट पर जीत हासिल नहीं होगी उन्होंने केरल विधानसभा चुनाव में यूडीएफ़ की चुनावी संभावनाओं से उनकी उम्मीदों, राज्य मे बीजेपी के सफल ना होने के कारणों और जी-23 पर चर्चा की।

उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के अंदर भले ही गुटबाजी मौजूद है लेकिन जब भी चुनाव होते हैं तो पार्टी के अंदर मौजूद सभी लड़के एक साथ आ जाते हैं हाल ही में केरल विधानसभा चुनाव को लेकर हुए ओपिनियन पोल में सामने आया है कि इस बार भी राज्य में सीपीएम के नेतृत्व वाली एलडीएफ सरकार बन सकती है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन प्रधानमंत्री हेरोल्ड विल्सन ने कहा था कि ‘राजनीति में एक हफ़्ता लंबा वक़्त होता है और चुनाव होने में अभी क़रीब चार हफ़्ते हैं। बल्कि सबसे ताज़ा ओपिनियन पोल कुछ हफ़्ते पहले हुआ है। इसलिए मैं मानता हूं कि ओपिनियन पोल लेने के हफ़्तों और चुनाव प्रचार के बचे हुए हफ़्तों के बीच ये चुनाव पलटने वाला है और यूडीएफ़ जीतेगी।

इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि मुझे लगता है कि बीजेपी को 140 में से एक सीट भी मिलना मुश्किल है। बल्कि बीजेपी को अपनी एकमात्र निमोम सीट को बचाए रखने में भी दिक़्क़त होगी. ख़ासकर जब कांग्रेस और सीपीआई(एम) ने वहां अपने मज़बूत उम्मीदवार उतारे हैं।

उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि केरल उत्तर भारत का राज्य नहीं है। यहां पर सां’प्रदायि’क और ध्रु’वीकरण की राजनीति नहीं की जाती है भाजपा के पास बहुत ही पैसा है। और यह एक प्रभावी संस्था भी है। लेकिन सिर्फ पैसे और बाहुबल के बल पर चुनाव नहीं जीता जा सकता। इसके लिए मतदाताओं की भावनाओं को समझना जरूरी होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *