समाजवादी पार्टी के विधायक और प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव इन दिनों अलग तेवर में दिख रहे हैं. शिवपाल अलग-अलग तरह से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर हमला बोल रहे हैं. असल में उन्हें सपा अध्यक्ष अखिलेश से उम्मीद थी कि वो उन्हें सपा में कोई ऐसी पोस्ट देंगे जिससे उनकी पार्टी में कोई भूमिका होगी लेकिन सपा अध्यक्ष ने ऐसा कुछ नहीं किया.

इस वजह से शिवपाल यादव और अखिलेश यादव में तनाव देखा गया. शिवपाल ने इसके बाद भाजपा नेताओं से भी मुलाक़ात की और अखिलेश पर दबाव बनाने की कोशिश की. हालाँकि अखिलेश ने शिवपाल को कोई महत्त्व नहीं दिया. इस वजह से शिवपाल ने फिर सपा में ही समर्थन जुटाने की कोशिश तेज़ कर दी.

सीतापुर जेल में बंद सपा विधायक आज़म खान से भी शिवपाल मिले. इसके बाद ऐसी चार्चायें तेज़ हो गईं कि शिवपाल और आज़म कोई गुट बना रहे हैं. शिवपाल इन दिनों आज़म ख़ान के पक्ष में खड़े नज़र आ रहे हैं. हाल ही में उन्होंने आज़म ख़ान से जुड़ा एक वीडियो भी शेयर किया था. इस वीडियो में आज़म ख़ान एक बयान दे रहे हैं.

इस वीडियो को शिवपाल ने अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल से शेयर किया. इससे ज़ाहिर हो गया कि शिवपाल और आज़म ख़ान में पुरानी जुगलबंदी हो सकती है. अब इन्हीं सब चर्चाओं को और तेज़ करने के लिए शिवपाल ने एक स्टेटस डाल दिया है. इस स्टेटस में उन्होंने अखिलेश यादव पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा है. इसमें उन्होंने यूँ तो सीधे तौर पर कुछ नहीं कहा है लेकिन उन्होंने इशारों में ऐसा कुछ कह दिया कि लगने लगा कि ये निशाना साधा जा रहा है.

उन्होंने इसमें लिखा,”अपने सम्मान के न्यूनतम बिंदु पर जाकर मैंने उसे संतुष्ट करने का प्रयास किया! इसके बावजूद भी अगर नाराज़ हूं तो किस स्तर तक उसने हृदय को चोट दी होगी! हमने उसे चलना सिखाया..और वो हमें रौंदते चला गया..एक बार पुनः पुनर्गठन,आत्मविश्वास व सबके सहयोग की अप्रतिम शक्ति से ईद की मुबारकबाद।”