शिवसेना की नारा’ज़गी को लेकर महाराष्ट्र में कांग्रेस ने फ़ैसला किया है कि वो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की एमएलसी चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए अपने एक उम्मीदवार का नाम वापिस लेगी. रविवार को महाराष्ट्र कांग्रेस सरकार के प्रमु’ख बालासाहेब थोराट ने इसकी घोषणा की है। जिसके चलते उद्धव ठाकरे के लिए बिना किसी रुका’वट चुने जाने का रास्ता बिलकुल सा’फ हो गया है। बता दें कि एमएलसी चुनावों में कांग्रेस ने अपने दो उम्मीदवारों के नाम दिए थे जिसके चलते शिवसेना ने ठाकरे का पक्ष लेते हुए कहा कि अगर ठाकरे को बिना किसी रु’कावट नहीं चुना गया तो वह चुना’व नहीं ल’ड़ेंगे।

बताया जा रहा है कि ठाकरे को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए एमएलसी चुना जाना बहुत ज़रूरी है। रविवार को शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अगर ठाकरे को बिना किसी रुका’वट के एमएलसी नहीं बनाया गया तो वह चुना’व नहीं ल’ड़ेंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी चुनाव में 2 सीटों पर ही अपने उमी’दवार उतारने पर अड़ी है। जिसके चलते शिव सेना चीफ दु’खी हैं। इस बात को लेकर उन्होंने महाराष्ट्र कांग्रेस सरकार प्रमुख बालासाहेब थोराट को पत्र भेजा जिसमें उन्होंने दूसरे उमी’दवार का नाम वापस लेने को कहा। राउत ने ठाकरे के सपोर्ट में कहा कि ये मौजूदा हा’लत राजनीति ल’ड़ाई की नहीं है और ना ही ठाकरे चुना’व ल’ड़ने से ड’रे है। उन्होंने बताया कि ये चुना’व राजनी’तिक संक’ट टा’लने के लिए 27 मई को करवाए जा रहे है।

बता दें कि किसी भी मंत्री या मुख्यमंत्री के लिए शा’पत ग्र’ण के बाद अगले छह महीने के अंदर विधानसभा का मेंबर बनना ज़रूरी होता है। लेकिन ठाकरे अब तक किसी भी सदन के सदस्य नहीं है और ठाकरे के लिए ये परे’शानी 28 मई तक रहेगी। बताया जा रहा है कि बालासाहेब थोराट ने शनिवार को बीड जिले के पार्टी अध्यक्ष राजकिशोर मोदी का नाम दूसरे उम्मी’दवार के रूप में बताया था। वहीं बता दें कि बीजेपी ने इस चुना’व के लिए अपने 4 उम्मी’दवारों के नाम दिए, एनसीपी और शिव सेना ने दो-दो उम्मी’दवारों के नामों की घोषणा की है। वहीं कांग्रेस ने भी अपने 2 उम्मी’दवारों के नामों की घोषणा की। जिसके चलते अब गठ’बंधन के उम्मी’दवारों के बीच चुनाव की आवश्यकता पैदा हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.