मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर अब पार्टियाँ तेज़ी दिखा रही हैं. बुधवार की शाम से ही अचानक एक क़िस्म की तेज़ी इस मामले में देखी गई है. महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वी राज चव्हाण ने इस सिलसिले में बयान दिया है कि कांग्रेस और एनसीपी के नेता कल (दिल्ली में) मिलेंगे और शाम तक वो महाराष्ट्र के लिए वापिस हो जाएँगे. उन्होंने कहा कि इसके बाद परसों तीनों पार्टियां मिलेंगी. इसके पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने इस बारे में आज बड़ा बयान दिया है.

‘भारत दुनिया’ में छपी ख़बर के मुताबिक़ उन्होंने कहा कि शिवसेना का मुख्यमंत्री बनना चाहिए ये महाराष्ट्र की जनता की इच्छा है, ये राज्य की भावना है कि उद्धव ठाकरे जी नेतृत्व करें. राउत ने इसके अलावा ये भी कहा कि जब तीन राजनीतिक पार्टियाँ साथ आती हैं तो प्रक्रिया लम्बी होती है..आज ये प्रक्रिया शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि आने वाले दो से पाँच दिन में राज्य में सरकार की स्थापना होगी.

इसके पहले महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बहस के बीच एनसीपी और कांग्रेस में बैठक हुई. इस बैठक के ख़त्म होने के बाद एलान किया गया कि महाराष्ट्र में ‘शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनेगी’. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा, ‘चर्चा सकारात्मक रही है. हम महाराष्ट्र में स्थिर सरकार देंगे और हम सरकार बनाएंगे.’ वहीं कांग्रेस ने कहा है कि अभी कुछ चर्चा बाकी है, वो एक-दो दिन में पूरी हो जाएगी. इस दौरान एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा, ‘हमने सभी बिंदुओं पर चर्चा की.’

इसके पहले कई तरह की ख़बरें आ रही थीं जिस वजह से कई तरह के सवाल उठ रहे थे. आज शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने उस ख़बर को बेबुनियाद बताया जिसमें कहा गया था कि कार्यकर्त्ता इस बात को लेकर नाराज़ हैं कि शिवसेना एनसीपी से गठबंधन करने जा रही है. शिवसेना अध्यक्ष ने भरोसा जताया था कि जल्द ही राज्य में सरकार की स्थापना हो जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.