उत्तर प्रदेश में राज्यसभा इले’क्शन होने वाले हैं, जिसके कार’ण प्रदेश में उथल-पुथल जारी है। इसी के चलते अब चुनाव से पहले ही बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के विधायकों को लेकर बड़ा फैसला किया है। मालूम हो कि बीते दिनों इले’क्शन को लेकर बसपा के 7 विधायकों को लेकर बगा’वत करने की खबर आई थी, जिसके बाद अब मायावती ने इन विधायकों के लिए फर’मान जारी किया है। मायावती ने इन बागी विधायकों पर फैस’ला करते हुए सस्पें’ड कर दिया है। यही नहीं बल्कि पार्टी इन विधायकों पर आगे और कारवाई करेगी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बसपा सभी बागी विधायकों की सद’स्यता ख’त्म करने की तैयारियों में हैं। शुक्रवार को बसपा विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित से मुला’क़ात कर बा’गी नेताओं की सदस्यता र’द्द करने का अनुरो’ध करने के साथ साथ बा’गियों के खि’लाफ 420 के तहत माम’ला दर्ज करवा सकती है। वहीं इस संबं’ध में बसपा के रा’ष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का बया’न साम’ने आया है। उन्होंने कहा है, “ये खरीद फरो’ख्त की राजनीति समाजवादी की पुरानी परं’परा है। इसमें कोई नई चीज नहीं है। उन्होंने जो संदेशा दिया है, वो अपने खि’लाफ दिया है। पूरा देश-प्रदेश उनके खिलाफ थू-थू करने का काम करेगा।”
Akhilesh-Mayawati
आगे उन्होंने कहा कि इस माम’ले पर कार्रवाई की जाएगी, जिसके बारे में आपको पता लग जाएगा। आपको बता दें कि बुधवार को बसपा के 5 विधायकों ने राज्यसभा प्रत्याशी रामजी गौतम के प्रस्तावक के तौर पर नाम वापस ले लिया था और समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव से मिलने पहुंच गए थे। जिसके बाद बसपा में बगा’वत का सिल’सिला शुरू हो गया और कुछ ही समय बाद 2 और विधायक इसमें शामिल हो गए। इन विधायकों में असलम राइनी, असलम चौधरी, मुज्तबा सिद्दीकी, हाकिम लाल बिंद और हरगोविंद भार्गव, सुषमा पटेल और वंदना सिंह का नाम शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.