अमरीकी फौज और नाटो फौज की वापसी के बाद ता’लि’बान ने ऐसा पल’टवा’र किया अभी तक लोग यकीन नही कर पा रहे हैं की अफगान सरकार इतनी जल्दी घुटने टेक दी है और अब अफगानिस्तान में ता’लिबा’न युग की वापसी हो गई है अफगानिस्तान में इस वक्त हालात काफी ज्यादा ख’राब हैं एयरपोर्ट पर हज़ारो की भी’ड़ जमा है जो जल्द से जल्द अफगानिस्तान छोड़ने के लिए बेता’ब है ।

वही दोसरी तरफ ये खबर आरही है ता’लिबा’न लड़ा’के अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ACB) के दफ्तर पहुच गये है मिलने वाली जानकारी के अनुसार ता’लिबा’नी लड़ा’के गुरुवार को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के दफ्तर में भी एंट्री की थी रिपोर्ट्स की मानें तो इस दौरान अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर अब्दुल्लाह मजारी भी ता’लिबा’न लड़ा’कों के साथ मौजूद थे दावा किया जा रहा है कि अब्दुल्ला मजारी ही ता’लिबा’न को बोर्ड के दफ्तर तक उनके साथ गए थे।

आपको मालूम हो 34 साल के अब्दुल्लाह मजारी अफगानिस्तान टीम के लिए 3 वनडे मैच खेले हुए हैं लेकिन आपको बता दें ता’लिबा’न ने साफ तौर पर एला’न कर दिया है की वो क्रिकेट को कोई नुक’सान नही पहुं’चाएंगे उन्होंने यहां तक कहा ता’लि’बान खुद क्रिकेट को पसंद करते है और अफगानिस्तान में क्रिकेट की शुरुवात उन्होंने ही कि थी।

वही दोसरी तरफ अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सीईओ हामिद शेनवारी ने कहा है कि ता’लिबा’न से अफगानी क्रिकेटरों और उनके परिवार में मौजूद किसी भी सदस्य को ख’तरा नहीं है क्योंकि ता’लिबा’न खुद क्रिकेट से प्यार करती है बोर्ड ने ये भी कहा है अफगानिस्तान की टीम इंटरनेशनल टूर्नामेंट में हिस्सेदारी जारी रखेगी और टी-20 विश्वकप में भी शिरकत करेगी ।