हैदराबाद के नाम जब भी आता है जो ओवैसी के बाद अगर किसी नेता का ज़िक्र होता है तो वह हैं हैदराबाद से बीजेपी विघायक राजा सिंह का. इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि राजा सिंह अपने ज़हरीले भाषण और बयानों के लिए जाने जाते हैं और तमाम बार वह इस तरह का बयान दे चुके हैं और मुस्लिमों के खिलाफ ज़हर उगल चुके हैं. इस बीच अब उनके लिए एक बड़ी बुरी खबर सामने आ रही है.

आपको बता दें कि मामला कुछ यूँ है कि हैदराबाद की एक कोर्ट ने राजा सिंह को एक साल की सजा सुनाई है. राजा पर पुलिसकर्मी को धमकी देने और आपराधिक हमले के मामले में यह सजा सुनाई गयी है. सजा के साथ साथ उन पर पांच हज़ार रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है. लेकिन बाद में इस मामले में कोर्ट ने राजा को ज़मानत भी दे दी है. मामला दिसंबर 2012 का है.

उस्मानिया विश्वविद्यालय में बीफ फेस्टिवल का आयोजन हो रहा था. इसके विरोध में राजा सिंह ने हिंसक प्रदर्शन किया था और इसके बाद उन्हें धारा 151 के तहत हिरासत में भी ले लिया गया था. इसके पूरे मामले में के बाद विधायक के समर्थकों ने थाने पहुँच कर काफी बवाल किया था. इस दौरान विधायक अपने समर्थकों से मिलना चाह रहे थे लेकिन जब पुलिस ने उन्हें इज़ाज़त नहीं दी तो विधायक ने वह दरोगा को धमकी दे डाली और जिसके बाद उनके खिलाग धमकी देने का भी मामला दर्ज कर लिया गया.

इस मामले में हैदराबाद पुलिस ने 2019 में चार्जशीट दायर की थी और जिसकी सुनवाई नामपल्ली कोर्ट में हुई. फिल हाल इस मामले पर अभी विधायक राजा की तरफ से अभी कोई बयान नहीं आया है. लेकिन ज़मानत मिलने के बाद उन्हें इस मामले में फौरी तौर पर राहत ज़रूर मिल गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.