भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- मुसलमान मेरी बस एक बात मान लें तो उनसे…

April 5, 2021 by No Comments

भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी अक्सर मोदी सरकार की ज’नवि’रोधी नीतियों की कड़ी आलोचना करते रहते हैं . पार्टी में सुब्रमण्यम स्वामी उन नेताओं में शुमार हैं . जो मोदी सरकार की आलोचना करने से परहेज नहीं करते।

हाल ही के दिनों में भाजपा से नाराज चल रहे राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी कुछ साल पहले भाजपा के वि’रोधियों पर काफी ह’म’लावर हुआ करते थे। एक वक्त हुआ करता था जब सुब्रमण्यम स्वामी अपनी सभी को लेकर काफी चर्चित थे . लेकिन अब ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हालाँकि इंडिया टीवी के कार्यक्रम ‘आप की अदालत’ में उन्होंने कहा था कि अगर मु’सल’मान मेरी एक बात मान ले तो मुझे उनसे कोई दिक्कत नहीं रह जाएगी।

दरअसल आप की अदालत के एंकर रजत शर्मा ने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी से यह पूछ रहा था कि आपकी बातों से लगता है कि आप मुसलमानों को ठीक करना चाहते हैं। इस सवाल का जवाब देते हुए भाजपा नेता ने कहा था कि देश के सभी मु’सलमान ठीक है। लेकिन बस उन्हें एक बात मान लेनी चाहिए कि उनके पू’र्वज हिं’दू थे।

साथ ही उन्होंने हिं’दुओं को आगाह करते हुए कहा था कि जो लोग इतिहास को याद नहीं रखते हैं। वो फिर से उसी इतिहास का शि’कार बनते हैं। इसके अलावा पाकिस्तान के मुद्दे पर भी भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान के चार टुकड़े कर देनी चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार अगर पाकिस्तान के विरोध में कोई बड़ा हिस्सा लेती है तो लोग हंगामा करने लगते हैं।आपको बता दें कि हाल के दिनों स्वामी अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं। पाकिस्तान और चीन के मुद्दे पर उन्होंने केंद्र सरकार की कई बार आलोचना की है। उन्होेने चीन द्वारा भारत की जमीन कब्जा करने का भी आरोप लगाया है।

आपको बता दें कि हाल ही में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर मोदी सरकार पर भी हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि एक्शन लगाने के बाद कई देशों में लोगों की मौ’तें हो रही हैं। जिनमें से ज्यादातर की मौ’त को’विशील्ड लगवाने के बाद हुई है।

इस मामले को लेकर नीति आयोग से रिपोर्ट भी मांगी गई है। लेकिन अभी तक इसकी कोई जानकारी नहीं मिली है। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने नीति आयोग को नोटिस भेजकर जवाब तलब करने की अपील भी की थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *