अफगानिस्तान में ता’लि’बान की वापसी पर लोग अमेरिका को निशा’ना बना रहे हैं अमेरिका के इत्ते’हादी रहे देशों ने भी अमेरिका के इस कदम को शक की निगाह से देख रहे हैं दबी जबान पर आवाज भी उठाना शुरू कर दिए हैं ब्रिटेन ने भी इसका जबर’दस्त वि’रोध किया था आपको बता दें अमेरिका ने अपने इत्तेहादीयों को बताए बगैर रातों-रात अफगानिस्तान से अपनी फौज निकाल ली थी यहां तक कि अफगान सरकार और सेना को भी नहीं पता चला अब अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का भी बयान सामने आया है

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य हार अफगानिस्तान में हुई है और बाइडेन प्रशासन बुरी तरह विफल रहा है मिली जानकारी के अनुसार, रिपब्लिकन रैली को संबोधित करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति बिडेन पर जमकर बरसे और कहा कि अमेरिकी सैनिकों और नागरिकों के जी’वन को खत’रे में डाल दी उन्हीने कहा जो बाइडेन अफगानिस्तान में विफल रहे।

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि जो बाइडेन ने तालिबान को एक खुला रास्ता दिया था और उनके निकलने की कोई योजना नहीं थी उन्होंने कहा कि दुश्मन बिडेन से न ड’रते थे और न कोई उनका सम्मान नहीं करते थे, उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में हार दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य हार थी।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के देश से भाग जाने और ता’लिबा’न द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद हाल ही में डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के इस्तीफे की मांग की थी उन्होंने अपने सहयोगियों को एक ई-मेल भेजकर कहा था कि बिडेन ने अफगानिस्तान के साथ जो किया है, उससे अमेरिका की बदनामी हुई है और राष्ट्रपति बाइडेन को इस्तीफा दे देना चाहिए।