तालिबान सरकार का गठन, मुल्ला बरादर नही बल्कि ये चेहरा बनेगा अफगानिस्तान का नया राष्ट्रपति पहली बार….

September 6, 2021 by No Comments

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद सबको सरकार के गठन का इंतेज़ार है अफगानिस्तान का राष्ट्रपति कौन बनेगा इसपर संस्पेंस अभी भी है मीडिया में चलने वाली खबरों के अनुसार मुल्लाह बरादर हो सकते थे अफगानिस्तान के ने राष्ट्रपति लेकिन ताज़ा मिली जानकारी के अनुसार मुल्लाह बरादर नहीं होंगे नए राष्ट्रपति बल्कि एक नया चेहरा सामने आया है जो अफगानिस्तान के राष्ट्रपति बनेंगे और मुल्लाह बरादर उपराष्ट्रपति बनेंगे तालिबान के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि कई दिनों के मशवरा के बाद ये फैसला लिया गया है ।

मिली जानकारी के अनुसार अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति मुल्ला मोहम्मद हसन अखवंद को बनाया जाएगा एक अंतर्राष्ट्रीय अखबार के अनुसार तालिबान का कहना है उन्होंने आज सरकार बनाने का एलान की तमाम तैयारी पूरी कर ली थी लेकिन कुछ ऐसे हालात बने जिसकी वजह से सरकार बनाने के एलान को टालना पड़ा उनका कहना था उम्मीद है बुधवार को नई सरकार का एलान कर दिया जाए या कुछ और वक़्त भी लग सकता है ।


۔
तालिबान के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमीर अल-मोमिनीन शेख हेबतुल्ला अखुनजादा ने खुद मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को राज्य के प्रमुख, या मंत्रियों के प्रमुख या अफगानिस्तान के राज्य के नए प्रमुख के रूप में नामित किया था। मुल्ला बरादार अखुंद और मुल्ला अब्दुल सलाम उनके प्रतिनिधि के रूप में कार्य करेंगे। जब तीन तालिबान नेताओं से संपर्क किया गया, तो उन्होंने राज्य के नए प्रमुख के लिए मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद के नामांकन की पुष्टि की।

 

मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद वर्तमान में तालिबान के शक्तिशाली निर्णय लेने वाले निकाय, लीडरशिप काउंसिल के प्रमुख हैं। वह तालिबान के जन्मस्थान कंधार से ताल्लुक रखते हैं और सशस्त्र आंदोलन के संस्थापकों में से एक हैं। तालिबान के एक अन्य नेता ने कहा कि उन्होंने नेतृत्व परिषद के प्रमुख के रूप में 20 साल तक काम किया और अच्छी प्रतिष्ठा हासिल की। वह एक सैन्य पृष्ठभूमि के बजाय एक धार्मिक नेता हैं और अपने किरदार और अकीदत के लिए जाने जाते हैं।

उन्होंने कहा कि मुल्ला हसन 20 साल तक शेख हेबतुल्ला अखोनजादा के करीबी रहे। तालिबान का कहना है कि एक अन्य दिग्गज तालिबान नेता, सिराजुद्दीन हक्कानी, जो हक्कानी नेटवर्क के प्रमुख हैं, देश के गृहमंत्री के रूप में नामित किया गया है। उनके पास पूर्वी प्रांतों के लिए राज्यपालों को नामित करने की शक्ति भी है। इसी तरह तालिबान के संस्थापक मुल्ला मोहम्मद उमर के बेटे मुल्ला याकूब को अफगानिस्तान का रक्षा मंत्री बनने की मंजूरी मिल गई है। मुल्ला याकूब शेख हेबतुल्ला अखोनजादा के छात्र रह चुके हैं । तालिबान के सूत्रों का कहना है कि शेख हेबतुल्लाह अखुनजादा ने मुल्ला याकूब को हमेशा अपने पिता की तरह काम के प्रति समर्पण के कारण मुल्ला याकूब को सम्मानित किया है।

तालिबान सूत्रों के अनुसार तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद को पहले नया सूचना मंत्री नियुक्त किया गया था, लेकिन नेतृत्व ने अब अपना विचार बदल दिया है और उन्हें राज्य के प्रमुख मुल्ला हसन अखुंद का प्रवक्ता बनाने का फैसला किया है। नए विदेश मंत्री के रूप में मुल्ला अमीर खान मुत्तक़ी को मनोनीत किया गया है । तालिबान के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि कुछ जिम्मेदारियों को लेकर मामूली मसायल थे, जिन्हें अब उनके अनुसार सुलझा लिया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.