महागठबंधन के हारे हुए ये उम्मीदवार जाएंगे हाईकोर्ट, तेजस्वी यादव का ये ‘मास्टर प्लान’ करेगा..

November 23, 2020 by No Comments

बिहार विधानसभा चुनाव में राजद और महागठबंधन के हारे हुए उम्मीदवार जल्द ही कोर्ट का रुख करना शुरू करने वाले हैं। बताया जा रहा है कि राज्य में छठ पर्व खत्म होते ही जिन सीटों पर महागठबंधन के उम्मीदवार भारतीय जनता पार्टी या जदयू नेताओं से मामूली अंतर से हारे हैं। वह अब कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

बिहार की हिलसा विधानसभा सीट से 12 वोटों के मामूली अंतर से हारने वाले आरजेडी प्रत्याशी शक्ति सिंह यादव सोमवार को ही पटना हाईकोर्ट का रुख करेंगे। बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद सोमवार को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य का कार्यभार दोबारा संभाल लिया है।

 

राजद के एक नेता के मुताबिक महागठबंधन के तकरीबन 21 उम्मीदवारों ने फिलहाल पटना हाई कोर्ट जाने का मन बना लिया है। इस संदर्भ में महागठबंधन के मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव के निर्देश पर ही पार्टी के हारे हुए कई उम्मीदवारों ने यह फैसला लिया है और इसके लिए पार्टी एक बड़ा प्लेन तैयार कर रही है।

छठ पर्व के दौरान इन उम्मीदवारों ने कागजी कार्रवाई पूरी कर ली है। अब सोमवार से ही कई उम्मीदवार कोर्ट जाने वाले हैं। तेजस्वी यादव ने साफ कर दिया है कि राजद इस मामले में पूरी ताकत के साथ खड़ी है और हरसंभव मदद करेगी। गौरतलब है कि इन 21 उम्मीदवारों में से सबसे ज्यादा राजद के उम्मीदवार हैं। राजद के 14, सीपीआई माले के 3, सीपीआई के 1 और कांग्रेस पार्टी के 3 उम्मीदवार कोर्ट जाने की तैयारी में है।

इधर बीजेपी और जदयू के भी तकरीबन एक दर्जन उम्मीदवार एक हजार से कम अंतर से हारे हैं। ऐसे में बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को बेशक बहुमत नहीं मिला हो, लेकिन राजद नेताओं ने अभी तक सरकार बनाने की आस नहीं छोड़ी है।

10 नवंबर को भी मतगणना के दिन आरजेडी उम्मीदवारों के द्वारा ईवीएम में पड़े वोट और वीवीपीएटी की पर्ची में मिलान कराने पर जोर दिया जा रहा था। मतगणना के 40 दिनों तक वीवीपीएटी और ईवीएम का डाटा संभाल कर रखा जाता है। जिसके बलबूते कोई भी प्रत्याशी इस दौरान कोर्ट जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *