तालिबान ने इस देश के बारे में कहा ये हमारा दूसरा घर है मजहब भी एक है, जबकि भारत को लेकर कहा….

August 26, 2021 by No Comments

Kabul : काबुल पर कब्जे के बाद तालिबान नेता सरकार बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं वह ऐसी सरकार बनाना चाह रहे हैं जिसको दुनिया मान्यता दे सके आपको बता दें इससे पहले जब तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया था और सरकार बनाई थी तीन देशों के अलावा किसी देश ने उन को मान्यता नहीं दी थी इसी वजह से वह पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई और अफगान नेता अब्दुल्ला अब्दुल्ला से लगातार मुलाकात भी कर रहे हैं तालिबान ने इससे पहले बयान भी दिया था कि वह सब को मिलाकर सरकार बनाएंगे।

ता’लिबा’न के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने पाकिस्तान को लेकर ऐसी बात कही है जो चर्चा का विषय बना हुआ है उन्होंने पाकिस्तान को अपना दूसरा घर बताया है और कहा है कि हमारी सीमाएं लगती हैं और हमारा मजहब भी एक है इसलिए हम भविष्य में पाकिस्तान के साथ अच्छे संबंधों की उम्मीद कर रहे हैं आपको बता दें पाकिस्तान लगातार अफगान ता’लि’बान पर जोर दे रहा है कि वह टीटीपी (TTP) के आतं’कि’यों पर कार्रवाई करे जो इस वक्त अफगानिस्तान में हैं।

आपको बता दें इसके अलावा ता’लिबा’न के प्रवक्ता ने भारत के साथ अच्छे संबंध रखने की भी उम्मीद जताई है यही नहीं भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को लेकर भी ता’लिबा’न ने अपनी राय जाहिर की है ता’लि’बान ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को आपस में बैठकर अपने बीच के मुद्दों को हल करना चाहिए मुजाहिद ने कहा कि ता’लिबा’न भारत समेत दुनिया के तमाम देशों से अच्छे संबंध चाहता है पाकिस्तान के चैनल ARY न्यूज से बात करते हुए जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि अफगानिस्तान पर ता’लिबा’न के कब्जा जमाने में पाक का कोई रोल नहीं रहा है।

अफगानिस्तान में सरकार के गठन को लेकर ता’लिबा’न ने कहा कि हम देश में एक मजबूत शासन चाहते हैं, जो इस्लाम पर आधारित हो और सभी अफगानी उसका हिस्सा हों। इस बीच अल जजीरा की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ता’लि’बान ने अमेरिका ग्वांतनामो बे जेल में बंद मुल्ला अब्दुल कय्यूम जाकिर को कार्यवाहक रक्षा मंत्री बनाने का फैसला किया है ता’लिबा’न ने अब तक सरकार गठन को लेकर कुछ भी स्पष्ट तौर पर नहीं कहा है लेकिन मुजाहिद ने पिछले बयानों में कहा कि अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद सरकार बनाने का एलान करेंगे।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.