अफगानिस्तान में तालिबान की 20 वर्ष बाद वापसी हो गई है अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़ कर चले गए हैं इस वक़्त संयुक्त अरब इमारत में हैं तालिबान ने अपने लड़ाकों लेकर बड़ा बयान दिया है ता’लिबा’न ने अफगान नागरिकों के खि’लाफ जवा’बी कार्रवाई और क्रू’र कार्रवाई के बारे में कहा है उनमें शामिल ता’लिबा’न लड़ा’कों के खि’लाफ जांच की जाएगी रॉयटर्स के अनुसार ता’लिबा’न के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि ता’लिबा’न को उनके कार्यों के लिए खुद जिम्मेदार होंगे ।

ता’लि’बान नेताओ के अनुसार अगले कुछ दिनों में अफगानिस्तान के लिये एक नई सरकार बनाने को लेकर एक मॉ’डल मंसूबा बनाया है आपको बता दें ता’लि’P0बान ने पिछले रविवार को बगैर कोई गोली चलाई काबुल का कंट्रोल संभाल लिया है अब सरकार बनाने को लेकर हामिद करजई, अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह, के साथ तालिबान की बातचीत जारी है उम्मीद है जल्द है नई सरकार का गठन हो जाएगा।

तालिबान अधिकारी ने कहा कि उन्होंने नागरिकों के खिलाफ अत्याचार और अपराधों के कुछ मामलों के बारे में सुना है तालिबान लड़ाके अगर कही अमन खराब करते है तो उसकी जांच कराई जाएगी उन्होंने कहा “हम अराजकता, दबाव और चिंता को समझ सकते हैं, “लोग सोचते हैं कि हमें जवाबदेह नहीं ठहराया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं है।”

काबुल पर कब्जा करने के बाद से तालिबान ने नरम रुख अपनाया है। इससे पहले, 1996-2001 के शासन के दौरान, तालिबान का रुख सख्त रहा है।रायटर के अनुसार, काबुल सरकार के पूर्व अधिकारियों ने तालिबान से छिपने की दर्दनाक कहानियां सुनाई हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.