इस लेडी अफसर ने विधायक को जड़ा था जोरदार थ’प्पड़!,अ’पराधियों से पं’गा लेने के लिए किसी भी हद…

April 7, 2021 by No Comments

अक्सर भारत में बहादुर पुरुषों के उदाहरण दिए जाते हैं। लेकिन अब वक्त बदल रहा है महिलाएं भी हर क्षेत्र में पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर मुकाबला कर आगे निकल रही हैं। आज हम आपको एक ऐसी बहादुर महिला अफसर के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसके बारे में यह कहा जाता है कि वह म’र्डर मि’स्ट्री को सुलझाने के लिए काफी माहिर है।

खासतौर पर इस महिला आईपीएस अफसर ने कई ब्ला’इंड म’र्डर केस सुलझाएं हैं। शायद इसी वजह से लोग इस महिलाएं आईपीएस अफसर को लेडी सिंघम भी कहते हैं। मूल रूप से केरल की रहने वाली सौम्या सांबशिवम 2010 बैच की आईपीएस अफसर हैं। उनके पिता इंजीनियर थे और वो अपनी माता-पिता की इकलौती बेटी हैं।

सौम्या ने बायोलॉजी में ग्रेजुएशन करने के बाद मार्केटिंग और फाइनेंस में एमबीए किया है। बताया जाता है कि सौम्या ने कुछ देर तक मल्टीनेशनल बैंक में भी काम किया है और सौम्या पेशे से लेखिका बनने की इच्छा रखती थी। लेकिन इसी बीच उन्होंने सिविल सेवा की परीक्षा दे दी और वह आईपीएस अफसर बन गई।

आजाद भारत में हिमाचल प्रदेश के शिमला की पहली महिला पुलिस अधीक्षक बनने का श्रेय सौम्या सांबशिवम के नाम ही है। आपको बता दें कि सौम्या ने शिमला में पुलिस कप्तान के तौर पर जब कमान संभाली थी। तो उस वक्त एक मासूम बच्चे की ह’त्या का केस हिमाचल प्रदेश में काफी सुर्खियों में बना हुआ था।

सौम्या ने लड़कियों की सुरक्षा के लिए उन्हें स्प्रे बनाने की ट्रेनिंग दी थी। ताकि वह सड़कों पर घूमने वाले मनचलों से अपना ब’चाव कर सकें। सौम्या ने अपने सेवाकाल के दौरान कई ऐसे कारनामे किए जिसे लेकर वह काफी चर्चा में रही।

उन्होंने एक ऐसे अ’परा’धी को पकड़ा था। जिसने तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद इस ज’घन्य अ’परा’ध को अंजाम दिया था। इसके अलावा आईपीएस अफसर सौम्या ने ड्र’ग्स, श’राब और मा’नव त’स्करी पर रो’क लगाम कसने की दिशा में भी बेहतरीन काम किया।

कहा जाता है कि साल 2006 में एक प्रदर्शन के दौरान सौम्या ने एक विधायक को वहां से हट जाने को कहा तब उन्होंने मना कर दिया था। कई मीडिया रिपोर्ट्स में उस वक्त कहा गया था कि इसके बाद सौम्या सांबशिवम ने विधायक को थप्पड़ जड़ दिया था। जिसके कारण वो काफी सुर्ख़ियों में आ गई थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *