बंगाल चुनाव को लेकर राजनीती का पारा चढ़ा हुआ है सभी पार्टिया मैदान में उतर चुकी हैं और घमासान मचा हुआ है सभी पार्टियों के बिच, बीजेपी ने आज जारी अपनी तीसरी और चौथी सूची में जहां केंद्रीय मंत्री और पार्टी के कई सांसदों को मैदान में उतारा है। इसके साथ ही टिकट की आस लगाए कई लोगों के टिकट कटे हैं जिसे लेकर अब बगावत भी शुरू हो गई है। इनमें प्रमुख नाम कोलकाता के पूर्व मेयर सोवन चटर्जी का है। कभी टीएमसी के दिग्गज रहे सोवन चटर्जी ने 2019 में बीजेपी ज्वाइन की थी। वह अपनी पारंपरिक बेहला पूर्व सीट से टिकट मांग रहे थे लेकिन भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया जिससे नाराज चटर्जी ने बीजेपी छोड़ दी है।

चटर्जी की जगह बीजेपी ने पिछली 25 फरवरी को पार्टी में शामिल होने वाली अभिनेत्री पायल सरकार को बेहला पूर्वी विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। रविवार को बीजेपी नेता बैशाखी बनर्जी ने सोवन चटर्जी के पार्टी छोड़ने की जानकारी दी है। इसके साथ ही बैशाखी ने खुद के भी भाजपा से अलग होने की घोषणा की है। सोवन चटर्जी और बैशाखी बनर्जी ने अपना इस्तीफा भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को भेज दिया है।

सोवन चटर्जी का जाना भाजपा के लिए बड़ा झटका है। खासतौर पर जब पार्टी कोलकाता और दक्षिण 24 परगना में उम्मीद कर रही थी कि सोवन चटर्जी कैडर को मजबूत करेंगे।

कौन हैं सोवन चटर्जी ? सोवन चटर्जी को 2010 में कोलकाता के मेयर बने थे। इसके बाद 2011 में वह बेहला पूर्व सीट से टीएमसी के टिकट पर विधायक बने। 2016 के विधानसभा चुनाव में दोबारा वह इसी सीट से चुने गए। 2016 में वह ममता बनर्जी कैबिनेट में मंत्री बने। बाद में 2019 में वह टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.