कोरोना के नए स्ट्रेन ने एक बार फिर से सभी की चिन्ताय बढ़ा दिया है कोरोना के नए स्ट्रेन ने एक बार फिर जनता और सरकार की मुस्किलो में डाल दिया है फिर तेज़ी से कोरोना के मामले बढ़ते दिख रहे है, मध्यप्रदेश के भोपाल और इंदौर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, शुक्रवार को इंदौर में एक दिन में 173 मामले सामने आए तो वहीं शनिवार को 161 मामले दर्ज किए गए, इंदौर जिले में अब तक 60,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 935 लोगों की मौ’त हो गई है, इसके अलावा भोपाल में पिछले दो दिनों में 202 मामले सामने आए.

इसी प्रकार से पूरे प्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, सरकार इन शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने पर फैसला करेगी. भोपाल, इंदौर समेत प्रदेश के लगभग 18 से ज्यादा जिलों में कोरोना का कहर फिर से बढ़ते दिख रहा है इंदौर और भोपाल में हालात फिर से बेकाबू नज़र आ रहे हैं, इंदौर में छह लोगों में कोरोना का नया स्ट्रेन भी मिला है, ये नया स्ट्रेन यूनाइटेड किंगडम वाला है, वहीं इस मामले में दिलचस्प बात यह है कि इन छह लोगों में से कोई भी विदेश नहीं गया, इंदौर, भोपाल समेत कई बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है.

इसी सिलसिले में सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित की गय़ी है, इस बैठक के बाद ही कोरोना के संक्रमण के रोकने के लिये नये फैसलों पर विचार किया जायेगा, इधर कलेक्टर ने दण्ड प्रकिया संहिता 1973 की धारा-144 अंतर्गत कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भोपाल जिले की संपूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र में किसी भी होटल रेस्टोरेंट, बार और हुक्का बार आदि में हुक्का पीने और परोसने की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया है, काग्रेस आरोप लगा रही है कि सरकार कोरोना को लेकर गंभीर नहीं है, सरकार ने जांच कम कर दी, जिसके कारण मामले सामने आ रहे थे, लेकिन कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.