सं’कट में फँसे ब्रिटिश PM की बढीं मुश्किलें, कल साजिद जाविद और ऋषि ने दिया इस्तीफ़ा तो आज..

July 6, 2022 by No Comments

लन्दन: ब्रिटेन के प्रधानमन्त्री बोरिस जॉनसन की मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं. प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही उनकी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगे हैं. परन्तु इस बार लगता है कि उनकी अपनी ही सरकार के मंत्री उनसे नाख़ुश हैं. कल दो वरिष्ठ मंत्रियों ने सरकार से इस्तीफ़ा दिया था वहीं आज फिर दो मंत्रियों ने इस्तीफ़ा दे दिया है.

ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन सरकार के दो और मंत्रियों ने भी इस्तीफ़ा दे दिया है। बुधवार के रोज़ बाल एवं परिवार मंत्री विल क्विंस और कनिष्ठ परिवहन मंत्री लाउरा ट्रोट ने भी सरकार से इस्तीफ़ा दे दिया. इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद और वित्त मंत्री ऋषि सुनाक ने भी अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था।

क्विंस ने अपने इस्तीफ़े में लिखा कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की एक राजनेता की नियुक्ति पर “गलत” ब्रीफिंग दिए जाने के बाद उनके पास इस्तीफा देने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। क्विंस ने अपने ट्वीट में लिखा- बड़े दुःख और खेद के साथ मैंने आज सुबह अपना इस्तीफ़ा प्रधानमंत्री को सौंप दिया है। मैं अपने उत्तराधिकारी को शुभकामनाएं देता हूं।

वहीं कनिष्ठ परिवहन मंत्री लौरा ट्रॉट ने कहा कि वह सरकार में “विश्वास” खोने पर इस्तीफा दे रही हैं। इससे पहले कल ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनाक और स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने सरकार से इस्तीफ़ा दे दिया था. ये बोरिस जॉनसन सरकार के लिए बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने ऊपर बढ़ते दबाव के बीच स्वीकार किया है कि संसद के एक दागदार सदस्य को सरकार के अहम पद पर नियुक्त करना ग़लत था.

जॉनसन ने कहा था कि उन्हें इस बात का बहुत दुःख है कि उन्होंने निलंबित सांसद क्रिस पिंचर के ख़िलाफ़ से’क्शुअल मि’स्कंडक्ट की शिकायत का पता होने के बाद भी उन्हें डिप्टी चीफ व्हिप के सरकारी पद पर नियुक्त किया। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद के इस्तीफ़े के तत्काल बाद भारतीय मूल के ब्रिटिश वित्त मंत्री सुनाक ने भी अपना इस्तीफ़ा दे दिया था। मंत्रियों के लगातार इस्तीफे के बाद बोरिस जॉनसन सरकार अब संकट में आ गई है।
सुनाक ने अपने ट्वीट में कहा था कि जनता सरकार से यह सही अपेक्षा रखती है कि वह उचित तरीके से, तरीके से और गंभीरता से चले।

Leave a Comment

Your email address will not be published.