UP चुनाव में ओवैसी की पार्टी को मिले इतने वोट, गुड्डू जमाली की सीट पर भी..

लखनऊ: बड़े दावों के साथ चुनावी मैदान में उतरी असद उद्दीन ओवैसी की AIMIM उत्तर प्रदेश में कोई भी कमाल नहीं दिखा सकी. इस चुनाव में ऐसी उम्मीद थी कि ओवैसी की पार्टी कुछ सीटों पर जीत हासिल कर सकती है लेकिन AIMIM को एक सीट भी नहीं मिली. ओवैसी की पार्टी ने मुबारकपुर सीट पर ही अच्छी लड़ाई लड़ी लेकिन ये सीट भी अंत में समाजवादी पार्टी ही जीती.

कुल वोट की बात करें तो AIMIM को महज़ .49% वोट मिला, यानी कि AIMIM को महज़ 450929 वोट हासिल हुए. AIMIM के अधिकतर उम्मीदवारों की ज़मानत भी ज़ब्त हो गई. मुबारकपुर में AIMIM के शाह आलम उर्फ़ गुड्डू जमाली को 36460 वोट मिले, अब तक के डाटा में जो वोट दिख रहा है उसके मुताबिक़ गुड्डू जमाली भी अपनी ज़मानत बचाने में नाकाम दिख रहे हैं. ज़मानत बचाने के लिए 16.66% वोट चाहिए लेकिन उनका वोट कुछ कम है.

यहाँ से सपा के अखिलेश पहले स्थान पर थे, जबकि दूसरे पर भाजपा के अरविन्द जैसवाल, तीसरे पर बसपा प्रत्याशी और चौथे पर गुड्डू जमाली. सपा के अखिलेश को यहाँ 80726 वोट मिले थे. उतरौला के AIMIM प्रत्याशी को महज़ 6.23% वोट मिला है. डुमरियागंज में AIMIM प्रत्याशी को महज़ 2% वोट मिला है. मुरादाबाद नगर से पार्टी को महज़ 2661 वोट मिले हैं.

मुरादाबाद ग्रामीण से AIMIM को 2380 वोट मिले हैं. AIMIM को अधिकतर जगहों पर बहुत कम वोट मिले हैं और पार्टी किसी भी सीट पर अपनी ज़मानत बचाने में नाकाम सिद्ध हुई है. आपको बता दें कि AIMIM ने चुनाव के दरम्यान ये दावा किया था कि उनकी पार्टी कम से कम 5 सीटें जीतेगी लेकिन ऐसा कुछ भी उत्तर प्रदेश में नहीं हुआ.

AIMIM को वोट कटुआ का भी नहीं मिल पाया ख़िताब…
AIMIM के बारे में कुछ लोगों का अनुमान था कि ये सपा का मुस्लिम वोट काटेगी लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. सपा को मुस्लिम समाज ने बढ़चढ़ कर वोट किया. इसी का नतीजा है कि अधिकतर मुस्लिम उम्मीदवार सपा से चुनाव जीते हैं वहीं AIMIM किसी भी सीट पर इतना प्रभाव नहीं डाल सकी कि उससे चुनाव नतीजों में कोई फ़र्क़ आए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.