इस समय देश के कई प्रदेशों में चुनाव का सिलसिला जारी है। बिहार हो या महारा’ष्ट्र सभी राज्यों में चुनावी हल’चल शुरू हो गई है। इसी सिलसिले के चलते अब जल्द ही उत्तर प्रदेश में भी 8 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव होने वाले हैं। जिसके लिए सभी पार्टियां ज़ोरों-शोरों से तैयारियां कर रहीं हैं। इसी बीच बहुजन समाज पार्टी यानी बीएसपी की सुप्रीमो मायावती भी मैदान में उतर चुकीं हैं। यूं तो मायावती उपचुनावों से दूर ही रहती हैं, लेकिन इस बार वह उपचुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहीं हैं। इसके लिए अब उन्होंने अपने उम्मीदवा’रों की घोष’णा भी कर दी है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश की इन 8 सीटों में से 6 सीटें भारतीय जनता पार्टी के पास हैं और बाक़ी की दो पर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने क़’ब्जा किया हुआ है। ऐसे में कांग्रेस और बसपा दोनों ही लगे हाथों अपनी किस्मत आजमाने की कोशिश कर रही है। बता दें कि साल 2017 में बीएसपी ने चुनाव में 97 मु’स्लिम उम्मीदवा’रों को उतारा था। वहीं इस साल के चुनाव के लिए भी बसपा साल 2017 वाली ही र’णनीति अपनाने की तैयारियों में हैं।
Mayawati
बसपा मु’स्लिम उम्मीदवा’रों के दम पर चुनाव जीतने की कोशिश करेगी, जिसके लिए तीन मु’स्लिम उम्मीदवा’रों को मैदान में उतारेगी। वैसे तो फिलहाल पार्टी ने अभी प्रत्याशियों के नामों की घोष’णा नहीं की है, लेकिन खबरें हैं कि उपचुनाव के उम्मीदवा’रों के नाम फाइ’नल हो चुके हैं और उपचुनावों की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही पार्टी इन नामों से प’र्दा भी ह’टा देगी। मायावती के मैदान में उता’रने के बाद से ही उत्तर प्रदेश के इस उपचुनाव ने रोचक मो’ड़ ले लिया है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या इस बार किस्मत मायावती का साथ दे पाती है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.