जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश का चुनाव नजदीक आता जा रहा है वैसे सियासी माहौल गरमाता जा रहा है पिछले दिनों असदुद्दीन ओवैसी का बहराइच दौरा हुआ था आज 15 जुलाई को को पश्चिमी यूपी में चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे अपने इस दौरे में वे मुरादाबाद में जनसभा को संबोधित करेंगे।

आपको बता दें आज ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूर्वांचल दौरा है वह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रहेंगे AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का इरादा है यूपी को दोसरा बिहार बनाया जा सके जैसे वहां रिजल्ट मिले वैसे ही यहां मिले आपको बता दें बिहार विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया और जीत हुई हासिल की थी AIMIM के पांच विधायक चुने गए थे वह इसी इसी कामयाबी को यूपी में दोहराना चाहते हैं।

आपको बता दें बहराइच दौरे के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने खुले तौर पर सपा पर हमला बोलते हुए कहा था अब एमवाई का समीकरण नहीं चलेगा एमवाई का मतलब मुस्लिम यादव जो कि समाजवादी पार्टी का वोट बैंक रहा है ओवैसी ने साफ तौर पर ऐलान किया कि मुसलमानों को सत्ता में हिस्सेदारी चाहिए अगर ओवैसी इस मामले में कामयाब हो जाते हैं तो सपा को बहुत नुकसान उठाना पड़ेगा इसकी वजह यह है कि पिछले दशकों से यूपी में समाजवादी पार्टी ही मुस्लिम समाज की पहली पसंद रही है।

ओवैसी इस समीकरण को तोड़कर अपने लिए राजनीतिक संभावनाएं तलाश रहे हैं असदुद्दीन ओवैसी के पास इस तरह का फीडबैक है कि वह पश्चिमी यूपी में उनकी पार्टी AIMIM अच्छा प्रदर्शन कर सकती है उत्तर प्रदेश में 130 सीटें ऐसी हैं जहां मुसलमान का अच्छा असर है जीत हार तय करने में उनकी निर्णायक भूमिका होती है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.