कोरो’ना वाय’रस से ब’चाव के लिए दुनिया भर में लॉ’क डा’उन जारी किया गया था। जिसके चलते बहुत से भारतीय अलग अलग देशों में फं’से हुए है। ऐसे में खब’र आई है कि आईएनएस जलाश्व गुरुवार को मालदीव पहुँचा ताकि वहाँ फं’से लोगों की मद’द कर उनको निका’ल सके। नौसेनि’क जहाज़ ने लोगों की मद’द कर उन्हें आज सुबह कोच्चि बंदरगा’ह पहुंचा दिया। ख’बर के मुता’बिक इस नौसेनि’क जहाज़ के ज’रिए 698 भारतीयों को देश वापस लाया गया जिसमें से 19 प्रेगनें’ट महिलाएं भी शा’मिल हैं।

शुक्रवार को भारतीय नौसेना द्वारा एक ब’यान में कहा गया कि आईएनएस जलाश्व द्वारा विदेश में फं’से लोगों को निका’ल कर लाना एक मि’शन का हि’स्सा है। माले में मौजूद एक रिसॉ’र्ट में काम करने वाले पलक्क’ड़ के प्रदीप ने कहा कि “यह बहुत बड़ी बात है कि उच्चायो’ग ने हमारे लिए यह व्यवस्था की और हमें अब तक कोई सम’स्या नहीं है। हमें उचित दिशा-नि’र्देश के साथ सभी चीजें मिलीं, सारी व्य’वस्थाएं उच्चायो’ग द्वारा की गई है।

गौ’र करने की बात है कि आईएनएस जलाश्व ने लोगों की म’दद के लिए सभी चीज़ों का इंतजा’म कर रखा था और साथ ही कोरो’ना वाय’रस से सुर’क्षा के लिए भी सभी चीजो का इंतजाम कर रखा था। इसके साथ ही जहाज़ में लोगों की सहाय’ता के लिए सहाय’ता क’र्मी भी मौजू’द थे। इस वाय’रस की वज’ह से जा’री किए गए लॉ’क डा’उन में विदेश में फंसे लोगों वापस देश लाने के लिए वंदे भारत मि’शन नाम का अपना सबसे बड़ा अभिया’न शुरू किया है। जिसके अंतर्ग’त विदेश में फँ’से भारतीयों को देश लाने का काम शुरू हो गया है।आज वि/मान से 1239 लोगों को भी लाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.