कानपुर ह’त्याकां’ड केस ( kanpur police murder case) के मुख्य आरो’पी विकास दुबे (Vikas Dubey) को उज्जैन के महाकाल मंदिर से ग्रि’फ्तार कर लिया गया था। जिसके बाद उसका एनकाउंटर कर दिया गया था। खबर है कि उसको कानपुर लेन वाली टीम का एक सिपाही कोरो’ना संक्रमि’त (Corona Positive) पाया गया है। जब ये बात मालूम हुई तो इस बात को लेकर हड़कंप मच गया है। उसके साथ गाड़ी में मौजूद चार सिपाहियों की कोरो’ना जां’च हुई लेकिन उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। विकास दुबे को भी उसी गाड़ी में लाया जा रहा था जिस गाड़ी में संक्रमि’त सिपाही मौजूद था।

बताया जरह है कि विकास दुबे के एनका’उंटर से पहले जिस गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ था। ये सिपाही भी उसी गाड़ी में मौजूद था। जिसके कारण सिपाही घा’यल हो गया और उसको मेडिक’ल में एड’मिट कराया गया वहां उसका कोरो’ना टेस्ट भी किया गया। उसके साथ बाकी सिपाहियों की भी जां’च की गई। घा’यल सिपाही की शनिवार की रात को रिपोर्ट आने पर पता चला कि सिपाही कोरो’ना संक्रमि’त है। इसके बाद अब उस टीम में शामिल अन्य पु’लिसक’र्मियों की भी जां’च की जाएगी।

विकास दुबे की गाड़ी का एक्सीडेंट होने के बाद विकास दुबे ने वहां से भागने की कोशिश की और पु’लिस के साथ मुठभे’ड़ हो गयी और मुठभे’ड़ में विकास दुबे मारा गया। इसके बाद उसकी हैलट अस्पता’ल में कोरो’ना जां’च भी की गई थी। हालांकि उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। कानपुर ज़िले में भी कोरो’ना संक्रामि’त म’रीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक वहां कोरो’ना संक्र’मित लोगों की संख्या 17 सौ के पार पहुंच चुकी है और कई लोग कोरो’ना संक्रम’ण की वजह से अपनी जा’न भी ग’वां चुके हैं। वही उत्तरप्रदेश में कोरो’ना संक्रमि’त लोगों की संख्या 35 हज़ार के पार पहुंच चुकी है। हालांकि 55 घंटे के लॉ’कडा’उन के दौरान कानपुर के सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। लोग अपने घरों में ही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.