वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी एक बार फिर से चर्चाओं में आ गए है। इस बार चर्चाओं में आने का कारण है कि कश्मीर की एक अदालन ने वसीम रिजवी के खिलाफ गैर जमान,ती वारं,ट जारी किया है। कश्मीर की अदालत ने यह वारंट कथिर तौर पर मुसलमानों और इस्लाम के खिलाफ अप,मानजनक बयान देने के मामले में किया गया है।

बता दें कि वसीम रिजवी ने पिछले साल अपना धर्म बदलकर हिंदू धर्म अपना लिया था। साथ ही वसीम रिजवी से अपना नाम बदलकर जितेंद्र नारायण त्यागी रख लिया था।

धर्म अपनाने के बाद रिजवी ने हरिद्वार में आयोजित हुई धर्मसंसद में भड़,काऊ भाषण दिया था। भड़,काऊ भाषण देने के आरोप में जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को जेल भी जाना पड़ा था।

मुसलमानों और इस्लाम के खिलाफ आपत्ति,जक बयान बाजी करने पर कश्मीर कोर्ट ने पहले भी वसीम रिजवी को कोर्ट के समक्ष पेश होने के लिए समन जारी किया था। समन में कहा गया था कि वह पेश हों और तत्काल शिकायत में उनके खिला,फ लगाए गए आरोपों का जवाब दे।

हालांकि, वो कोर्ट में पेश नहीं हुए थे। रिजवी के कोर्ट में पेश ना होने पर अब उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में अगली सुनवाई 03 जून को होगी। दरअसल, शिकायतकर्ता श्रीनगर निवासी दानिश हसन डार ने कोर्ट के समक्ष कहा कि ‘आरोपी ने अपनी मर्जी और पसंद से इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया।

लेकिन धर्मांतरण के बाद मीडिया से बात करते हुए अपमा,नजनक बयान दिए, जिससे मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं को ठे,स पहुंची।’