वसीम रिज़वी के बाद अली अकबर ने छोड़ा इस्लाम, अब हिन्दू धर्म अपनाने की घोषणा, बोला मदरसे में मेरे….

December 11, 2021 by No Comments

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी द्वारा हिंदू धर्म अपनाने के बाद अब मलायम फिल्म के निर्माता अली अकबर ने भी इस्लाम धर्म छोड़ने का ऐलान किया है और उन्होंने हिंदू धर्म अपनाने की घोषणा की है अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार उन्होंने इस्लाम छोड़ने की जो वजह बताई है आप जानकर चौंक जाएंगे उनके अनुसार जनरल बिपिन रावत की मौत से जुड़ी पोस्ट पर कई मुस्लिम नाम के अकाउंट वाले यूज़र्स ने कॉमेंट में स्माइली पोस्ट किया, जिस से वह दुखी हो कर हिन्दू धर्म अपनाया है।

अख़बार की ख़बर के अनुसार, अकबर ने कहा कि किसी भी बड़े मुसलमान नेता ने इस तरह के ‘देश-विरोधियों’ का विरोध नहीं किया, जिन्होंने सेना के बहादुर अधिकारी का अपमान किया और ये उन्हें मंज़ूर नहीं है अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार, फिल्म निर्माता ने बुधवार को फ़ेसबुक पेज पर एक वीडियो साझा किया और कहा, ”आज मैं वो चोला उतार कर फेंक रहा हूँ जो मुझे पैदाइशी मिला था आज से मैं मुसलमान नहीं हूँ बल्कि भारतीय हूँ।

ये वही अकबर है जिन्होंने मुसलमानों के खि’लाफ एक ऐसी फ़िल्म ‘1921— फ्रॉम रिवर टू रिवर’ बनाने की घोषणा की थी वो अपनी फ़िल्म के ज़रिए ये दर्शाना चाहते हैं कि उस दौर में मालाबार क्षेत्र में ब्रिटेनी शासन के ख़िलाफ़ हुआ वि’द्रोह असल में एक सांप्र’दायिक दं’गा था जिसमें मुसलमानों ने हिं’दुओं का नर’संहार किया था यही नहीं बल्कि उसने तीन साल पहले अपने एक बयान के जरिए सनसनी फैलाई थी उसने कहा था मदरसा में उसके उस्ताद ने उसका शोष’ण किया था।

इनके पिछले तमाम मामलों को देखकर ऐसा कहीं से नहीं लगता इसने इस्लाम धर्म छोड़ने की जो वजह बताई है वो यही है बल्कि इस से पहले भी इसने ईसाई धर्म और इस्लाम धर्म को लेकर निशाना बनाया है, अली अकबर ने ऐसी कई घट’नाओं का ज़िक्र किया है जिसकी वजह से उसे दुख हुआ और उसने इस्लाम को छोड़ने का फ़ैसला किया उसके अनुसार “पाला में एक गांव है जिसमें अधिकतर ईसाई रहते हैं यहां एक बड़ा चर्च भी है यहां के कट्टरवादी मुसलमान गांव का नाम इरितिपेटा से बदलकर अरुवीधूरा करना चाहते हैं वो नाम बदलना चाहते हैं क्योंकि ये एक ईसाई इलाक़ा है।

उसकी पत्नी भी हिंदू धर्म अपनाने की घोषणा की है आपको बता दें उसकी पत्नी ईसाई है आपको बता दें अली अकबर ने इससे पहले ईसाई धर्म के खिलाफ भी वि’वादित टिप्पणी की थी हिन्दू धर्म अपनाने के बाद अपना नाम राम सिम्हन रखने का निर्णय लिया है ।

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.