बकरीद पर योगी सरकार का बड़ा फैसला, कु’र्बानी के लिए इन नियमों करना होगा पालन, नहीं तो होगी..

July 20, 2021 by No Comments

देश में पहले कोरोना संक्रमण के चलते किसी भी तरह के धा’र्मिक कार्यक्रम के आयोजन पर रोक लगाई गई है। इसी बीच कावड़ यात्रा और ब’करीद का त्यौहार आ चुका है। 21 जुलाई को दुनिया भर में ईद उल अजहा का त्यौहार मनाया जाएगा। दरअसल भारत में बीते साल आई कोरोना महामा’री के चलते का’वड़ यात्रा और ब’करीद को कैंसिल कर दिया गया था।

इस बीच खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश योगी सरकार ने को’रोना संक्रमण के मद्देनजर ब’करीद के मौके के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। 21 जुलाई को ब’करीद के मौके पर कोरोना प्रो’टोकॉ’ल के नियमों का उ’ल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। दरअसल योगी सरकार द्वारा इस मौके पर सिर्फ 50 लोगों के ही एक साथ एकत्रित होने की अनुमति दी है।

इसके साथ ही प्र’तिबं’धित प’शुओं की कु’र्बानी करने पर कार्रवाई होगी। सार्वजनिक स्थानों पर कु’र्बा’नी नहीं करने के निर्देश जारी किए गए हैं। दरअसल ब’करीद के मौके पर अक्सर मुसलमानों को प्र’तिबं’धि’त प’शुओं की कु’र्बा’नी से प’रहेज रखने के लिए कहा जाता है। इस बार भी योगी सरकार ने इस पर रोक लगा दी है।

आपको बता दें कि ब’करीद के त्यौहार के लिए दिशानिर्देश जारी करने से पहले योगी सरकार ने राज्य में होने वाली का’वड़ यात्रा को भी रद्द कर दिया है। दरअसल इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद ही योगी सरकार ने यह फैसला किया है। इससे पहले सरकार द्वारा इस बार का’वड़ यात्रा करवाने के आदेश दे दिए गए थे।

उत्तराखंड सरकार की तरफ से तो पहले ही यात्रा पर रोक लगा दी गई थी। अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अधिकारियों संग मंथन बाद ये फैसला लिया है। इस समय तमाम राज्य सरकारें ऐसे फैसले इसलिए ले रही हैं, क्योंकि देश पर कोरोना की तीसरी लहर का ख’त’रा मं’डरा रहा है।

बताया जा रहा है कि नीति आयोग की तरफ से भी कह दिया गया है कि आने वाले 125 दिन काफी अहम होने जा रहे हैं, ऐसे में अभी कोई भी राज्य सरकार ढील नहीं बरतना चाहती है और हर तरह के जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

इससे पहले लखनऊ लगने वाले श्रावण मेले को भी इस साल स्थगित कर दिया गया है। को’रोना सं’क्रमण के चलते एसीपी काकोरी आशुतोष कुमार ने मंदिर के पुजारी और स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर यह निर्णय लिया है। हालांकि श्र’द्धालु को’विड 19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए भगवान के दर्शन कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *